May 2020

* बदलापुर नपा क्षेत्र में 12 नए मरीज, कुल संख्या 225
अंबरनाथ। यूसुफ शेख
   अंबरनाथ में कोरोना ने धमाका कर दिया है। रविवार को एक ही दिन में 35 कोरोना बाधित मिले हैं। 113 मरीजों का उपचार चल रहा है। 50 कोरोना मुक्त हुए हैं। सिटी अस्पताल में आज 3 कोरोना मुक्त होकर घर गए हैं। आज कैलाश नगर में 7, सुभाषवाड़ी से चार, नया भेंडीपाड़ा से 9, शिवलिंग नगर से चार, महालक्ष्मी नगर पूर्व से 4 कोरोना बाधित मिले हैं। ऐसी जानकारी हमें मुख्याधिकारी श्रीधर पाटनकर ने दी है। शहर में अभी तक कुल संख्या 166 हो गई है। नपा की प्रेस नोट में 3 की मौत बताया है जबकि अभी तक पांच मरे हैं। बुवापाड़ा का 50 वर्षीय व्यक्ति, संजय नगर का 22 वर्षीय युवक, कैलाश नगर की 45 वर्ष की महिला, शिवनगर का 45 वर्षीय व्यक्ति और शहर पश्चिम निवासी उल्हासनगर पुलिस थाने में कार्यरित पुलिस कर्मी जिसका कल रात अंबरनाथ में अंतिम संस्कार किया गया। अस्पताल फूल है इसलिए कुछ मरीजों को घर में ही रखा गया है।
   अचानक कोरोना बाधितों की संख्या बढ़ने से इन लोगों को उपचार हेतु कहां रखा जाए या भेजा जाए यह प्रशासन के सामने एक बहुत बड़ी समस्या उभर कर आयी है। कैलाश नगर में एक कोरोना पीड़ित महिला का शव लाकर उसे दफनाया गया था। उसके परिवार जनों के सात सदस्यों का कोरोना पाॅजिटीव रिपोर्ट आया है। कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप पाटील ने शहर में बढ़ रहे कोरोना रोगियों की संख्या के लिए प्रशासन एवं मुख्याधिकारी को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्याधिकारी की लापरवाही के कारण शहरवासी मुसीबत में आ रहे हैं। शिवसेना शहर प्रमुख अरविंद वालेकर ने शहर में बढ़ रहे कोरोना रोग पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि जब मुख्याधिकारी देवीदास पवार थे उस समय केवल 17 मरीज थे अब पाटनकर के आने के बाद 166 हो गए हैं। उन्होंने भी पाटनकर को इसका जिम्मेदार बताया है और कहा है कि वह इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं। विधायक किणीकर ने भी चिंता जताई है। अंबरनाथ में 50 कोरोना मुक्त हुए हैं। सिटी अस्पताल में 43 का उपचार चल रहा है। 113 का अस्पतालों में उपचार चल रहा है।
बदलापुर। बदलापुर में रविवार को एक ही दिन में 12 कोरोना के मामला सामने आए। यहां पर कुल संख्या 225 हो गई है। 113 बाधितों पर अस्पतालों में उपचार चल रहा है। बदलापुर में एक ये खबर अच्छी आयी है कि यहां पर 105 कोरोना मुक्त हुए हैं लेकिन 7 की कोरोना से अब तक मौत हुई है। अंबरनाथ के एक होटल व्यवसाय को कोरोना हुआ है जो कि बदलापुर निवासी है। रविवार को कोरोना की रिपोर्ट जो आयी है उसमें 12 पाॅजिटीव और 21 नेगेटिव आए हैं। बदलापुर नपा के एक कर्मचारी को आज कोरोना बाधित पाया गया है। यहां पर 61 प्रतिबंधित क्षेत्र हैं।

* उल्हासनगर में कोरोना ग्रस्त 360, आज मिले 25 नए मरीज, एक्टिव मरीज 203, 146 कोरोना मुक्त
* कल्याण-डोंबिवली में 1034 कोरोना रोगी, आज मिले 54 नए मरीज
*  मनपा आयुक्त ने अब तक नहीं दिया दुकानें खोलने का आदेश
उल्हासनगर। उल्हासनगर महानगरपालिका क्षेत्र में रविवार को 25 नए मरीज मिले हैं। जिससे शहर में कोरोना ग्रस्त मरीजों की संख्या अब 360 हो गई है। आज 11 मरीज कोरोना मुक्त हुए हैं कुल अब तक 146 कोरोना मुक्त होकर घर गए हैं वहीं एक्टिव मरीजों की संख्या अब 203 हो गई है। मरने वालों की संख्या अब तक 11 है। रविवार को उल्हासनगर-3 ओटी सेक्शन के सम्राट अशोक नगर से 2 मरीज, संभाजी चौक से 1, सिद्धार्थ नगर से 1, चोपड़ा कोर्ट से 1, सुभाष टेकड़ी से 1, उल्हासनगर-2 के रमाबाई आंबेडकर नगर से 4,  कैम्प 5 कुर्ला कैम्प से 5 मरीज, हिललाईन पुलिस के पास आंबेडकर नगर से 2 मरीज, सेक्शन 35 से 1, रविंद्र नगर से 6, भाटिया चौक से 1 इस तरह कुल 25 कोरोना बाधित मिले हैं जिनका ईलाज शहर के कोविड अस्पताल में कोविड केयर सेंटर में चल रहा है। आईसीयू में 18 व आक्सिजन पर 8 मरीज हैं। 156 में कोरोना के कम लक्षण हैं वहीं 21 में अधिक हैं। 
  उल्हासनगर के व्यापारियों में यह उत्सुकता है कि दुकानें कभी खुल रही हैं। हालांकि राज्य सरकार ने आड ईवन बेसिस पर 5 जून से दुकानें खोलने की अनुमति दे दी है लेकिन ठाणे जिलाधिकारी व उल्हासनगर महानगरपालिका आयुक्त ने अभी तक कोई आदेश खबर लिखने तक नहीं निकाला है। हमें आशा है कि सोमवार 1 जून को आदेश आएगा और व्यापारियों व दुकानदारों को इसकी पूरा जानकारी मिलेगी। 
कल्याण।कल्याण डोम्बिवली शहर में कोरोना संक्रमितों के मामले थमने का नाम नही ले रहे है जिसमें रविवार को भी 54 कोरोना मरीजो की पुष्टि की गई है जिंसके साथ ही कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 1034 तक जा पहुची है इनमें 650 मरीजो का उपचार चल रहा है तो वही 355 लोग डिस्चार्ज हो चुके है मरनेवालों की संख्या में आज एक और शामिल हो गया यह संख्या बढ़कर 29 हो गयी है आज भी कल्याण पूर्व में ही सबसे अधिक मरीज पाये गए है। आज कुल 54 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाये गए है इनमें डोम्बिवली पश्चिम के 3 महिला, डोम्बिवली पूर्व के 5 पुरुष व 2 महिला, कल्याण पश्चिम के 3 महिला, कल्याण पूर्व के 14 पुरुष व 15 महिला(1 की मौत), ठाकुर्ली के 2 पुरुष व 2 महिला, शहद 2 पुरुष व 1 महिला, मांडा टिटवाला के 1 पुरुष व 2 महिला, अंबिवाली के 2 पुरुष कोरोना संक्रमित पाये गए है। इस नए आंकड़े के बाद अब तक कल्याण पूर्व में 343, कल्याण पश्चिम में 174, डोंबिवली पूर्व में 228, डोंबिवली पश्चिम में 191, मांडा टिटवाळा में 55, अंबिवाली में 21, शहद में 6, ठाकुर्ली में 8 तथा मोहने में 8 मरीज कोरोना से संक्रमित पाये जा चुके है ।
महाराष्ट्र राज्य सरकार का अनलाॅक 1.0
केंद्र सरकार की घोषणा के बाद धीरे-धीरे राज्य सरकारें भी लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा कर रही है। यूपी-राजस्थान के बाद महाराष्ट्र ने भी राज्य में कोरोना के आ रहे रिकॉर्ड मामलों के बीच लॉकडाउन को 30 जून तक बढ़ाते हुए इसमें कई तरह की राहत देने का ऐलान किया है। महाराष्ट्र सरकार ने 30 जून तक बढ़ाए गए लॉकडाउन का नाम ''मिशन बिगिन अगेन" दिया है।
महाराष्ट्र में 5 जून से मॉल को छोड़कर बाजारों और दुकानों को खोलने की इजाजत दी गई है तो वहीं निजी दफ्तर 8 जून से 10 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम कर सकते हैं। अधिक से अधिक वर्किंग फ्रॉम होम को बढ़ावा देने की बात कही गई है। फिलहाल एक जिला से दूसरे जिला के लिए बस परिचालन की इजाजत नहीं दी गई है। महाराष्ट्र सरकार ने स्पष्ट किया कि पाबंदियों में ढील और चरणबद्ध तरीके से कामकाज की बहाली अभी कोविड-19 निरुद्ध क्षेत्रों में नहीं होगी।
साथ ही रात नौ बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू लगा रहेगा। लोगों के घरों से बाहर निकलने पर पाबंदी रहेगी। महाराष्ट्र सरकार ने इसको लेकर गाइडलाइंस जारी किया है। गाइडलाइंस के मुताबिक, पहले फेज में लोगों को खेल के मैदान, बीच, बगीचों में सुबह पांच बजे से लेकर शाम सात बजे तक व्यायाम करने की अनुमति दी गई है।
ठाणे में 3 अस्पतालों ने 2 महिलाओं का इलाज करने से इंकार किया, एक की मौत
कोरोना वायरस महामारी के बीच दो मरीजों का इलाज करने से इंकार करने पर ठाणे पुलिस ने तीन अस्पताल प्रबंधनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इनमें से एक गर्भवती महिला थी, जिसकी ऑटोरिक्शा में ही मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि तीनों अस्पताल ठाणे नगर निगम के मुंब्रा इलाके में हैं और नगर निकाय ने इन्हें सील कर दिया है।
अधिकारी ने बताया, ''26 मई को गर्भवती महिला असमा मेहदी (26) का दो अस्पतालों ने इलाज करने से इंकार कर दिया और वह जिस ऑटोरिक्शा से आई थी उसी में उसकी मौत हो गई। तीसरे अस्तपाल ने 25 मई को महक खान नाम की महिला का इलाज करने से इंकार कर दिया था। उन्होंने कहा, ''ठाणे नगर निगम की शिकायत पर मुंब्रा पुलिस ने तीनों अस्पतालों के खिलाफ भादंसं, महामारी रोग कानून और अन्य संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया।
एक अन्य मामले में लॉकडाउन के दौरान नगर निगम के एक अधिकारी को मुंब्रा में लोगों से दुर्व्यवहार को लेकर छुट्टी पर भेज दिया गया है। इस वाकये का एक वीडियो सामने आया था । निगम द्वारा जारी आदेश के आनुसार कलवा-मुंब्रा वार्ड के उप नगर आयुक्त मनीष जोशी के खिलाफ कार्रवाई की गई है। 




कोरोना से उल्हासनगर में एक और मौत, मरने वालों की संख्या हुई 11
वसणशाह दरबार के 10 लोग कोरोना की चपेट में
* शनिवार को शहर में मिले 30 नए मामले
* 189 एक्टिव मरीज, 135 कोरोना मुक्त

उल्हासनगर। उल्हासनगर शहर में कोरोना का कहर जारी है। शनिवार को एक बड़ी खबर सामने आयी है कैम्प 5 के प्रसिध्द वसणशाह दरबार से 10 कोरोना पाॅजिटीव पाए गए हैं जिसमें दरबार प्रमुख व उनके परिवार का समावेश है। 8 का ईलाज नवी मुंबई के अस्पताल में चल रहा है। वहीं कैम्प 5 के ही गायकवाड़ से एक 53 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई है कोरोना से शहर में यह 11वीं मौत बताई गई है। शनिवार को शहर में 30 नए कोरोना मरीज मिले हैं जिसमें 10 वसण शाह दरबार से, एक की मौत के अलावा उल्हासनगर-2 विक्रांत अपार्टमेंट से 1, उल्हासनगर-3 चोपड़ा कोर्ट परिसर के आंबेडकर नगर से 2, अशोक नगर से 1, आनंद नगर से 1, हिराघाट परिसर से 1, सम्राट अशोक नगर से 2, अमन टाॅकीज परिसर से 1 कैम्प 4 के संभाजी चौक से 4, स्कूल नं. 14 के पास से 2, रविंद्र नगर से 1, उल्हासनगर-5 के गायकवाड़ पाड़ा से 1, सेक्शन 30 से 1, सेक्शन 35 से 2 इस तरह कुल 30 नए कोरोना ग्रस्त मरीज शहर में हैं। दिनों दिन बढ़ रहे मरीज शहर के लिए चिंता का विषय है। उल्हासनगर-4 के कोविड अस्पताल में 75, कामगार अस्पताल में 87, टेऊराम सेंटर में 7, ठाणे में 2, कल्याण में 2, भिवंडी में 2, कामा में 3, रिलायंस हाॅस्पीटल वाशी में 8, कोरोना केयर सेंटर सेंट्रल पार्क में 4 मरीजों का ईलाज चल रहा है। आज 15 मरीज कोरोना मुक्त होकर अपने घर गए हैं।
कल्याण। कोरोना संक्रमितों के मामले में शनिवार को फिर तेजी पाई गई जिनमे सिर्फ 24 मरीज कल्याण पूर्व से पाये गए है पूर्व के यह आंकड़े बहुत ही भयानक है जिसके तहत 38 कोरोना मरीजो की पुष्टि की गई है जिंसके साथ ही कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 980 तक जा पहुची है इनमें 618 मरीजो का उपचार चल रहा है तो वही 334 लोग डिस्चार्ज हो चुके है मरनेवालों की संख्या भी बढ़कर 28 हो गयी है। आज कुल 38 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाये गए है जिनमें डोम्बिवली पूर्व के 2 पुरुष व 7 महिला, कल्याण पश्चिम के 3 पुरूष व 2 महिला, कल्याण पूर्व के 18 पुरुष(1की मौत) व 6 महिला कोरोना संक्रमित पाये गए है । इस नए आंकड़े के बाद अब तक कल्याण पूर्व में 314, कल्याण पश्चिम में 171, डोंबिवली पूर्व में 221, डोंबिवली पश्चिम में 188, मांडा टिटवाळा में 52, अंबिवाली में 19, शहद में 3, ठाकुर्ली में 4 तथा मोहने में 8 मरीज कोरोना से संक्रमित पाये जा चुके है ।

  केन्द्र सरकार ने कोरोना लॉकडाउन पर लोगों को बड़ी राहत दी है। शनिवार को गृह मंत्रालय की तरफ से अगले एक महीने यानी 30 जून तक नई गाइडलाइन्स जारी की है। इसमें कंटेनमेंट जोन (निषिद्ध क्षेत्र) के बाहर सभी तरह की गतिविधियों को शुरू करने की इजाजत दी गई है, जबकि कंटेनमेंट जोन में 30 जून तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया गया है। वहीं, अब एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने के लिए पास की इजाजत नहीं होगी। 
तीन चरणों में खुलेगा लॉकडाउन 4.0 (कंटेनमेंट जोन को छोड़कर)
* 8 जून से धार्मिक स्थल, शॉपिंग मॉल, होटल रेस्तरां खुलेंगे।
* दूसरे चरण में स्कूल, कॉलेज खोलने पर जुलाई में विचार किया जाएगा
* तीसरे चरण में हालात को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय एयर ट्रेवल,मेट्रो, सिनेमा हॉल और जिम खोलने पर विचार-विमर्श किया जाएगा।
कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए देश में 24 मार्च से ही लॉकडाउन लागू है। लॉकडाउन 4.0 एक दिन बाद यानी 31 मई को खत्म हो रहा है। लॉकडाउन के चौथे चरण में काफी ढील दी गई और कई फैसले राज्यों पर छोड़ दिए गए थे।
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार (28 मई) को सभी मुख्यमंत्रियों से बात की थी और राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को 31 मई के बाद बढ़ाए जाने पर उनके विचार-विमर्श किया था। लॉकडाउन के चौथे चरण की समाप्ति से महज तीन दिन पहले गृह मंत्री ने मुख्यमंत्रियों से टेलीफोन पर बातचीत की।
सरकार ने कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन को 30 जून तक बढ़ाने की घोषणा कर दी है और कंटेनमेंट जोन के बाहर चरणबद्ध तरीके से गतिविधियों को शुरू किया जाएगा। आइए देखते हैं फेज 1, फेज 2 और फेज 3 में किन-किन गतिविधियों की इजाजत होगी और किस पर प्रतिबंध रहेगा।
फेज 1
8 जून 2020 से सभी धार्मिक स्थल खुल जाएंगे। होटल, रेस्त्रां और दूसरे हॉस्पिटैलिटी सर्विसेज की शुरुआत हो जाएगी। शॉपिंग मॉल्स भी खुल जाएंगे। इनके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से एसओपी जारी की जाएगी। 
फेज 2
स्कूल, कॉलेज, एजुकेशनल, ट्रेनिंग, कोचिंग इंस्टिट्यूट आदि को खोलने का फैसला जुलाई 2020 में लिया जाएगा। इसके लिए सभी राज्य सरकारों, केंद्र शासित प्रदेशों, संस्थाओं, अभिभावकों और सभी हितधारकों के साथ विचार विमर्श किया जाएगा। 
फेज 3 
अंतरराष्ट्रीय उड़ानें, मेट्रो रेल, सिनेमा हॉल्स, जिम, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, बार और ऑडोटोरियम को फेज 3 में खोना जाएगा। हालांकि, इससे पहले एक बार स्थिति की समीक्षा की जाएगी। तीसरे चरण में ही सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक गतिविधियों को खोलने का फैसला लिया जाएगा।  
नाइट कर्फ्यू का बदला समय
देश में नाइट कर्फ्यू अभी भी जारी रहेगा। हालांकि इसके लिए समय में बदलाव किया गया है। अब रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक गैर जरूरी काम से बाहर निकलने पर रोक रहेगी। लॉकडाउन 4 तक यह समय शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक था।
कंटेनमेंट जोन में जारी रहेगा लॉकडाउन
गृह मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि देश के सभी कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन 30 जून तक जारी रहेगा। कंटेनमेंट जोन की पहचान जिला अधिकारियों के द्वारा की जाएगी। कंटेनमेंट जोन में केवल जरूरी गतिविधियों की छूट रहेगी। कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन नियमों को सख्ती से लागू करने को कहा गया है। मेडिकल इमर्जेंसी के अलावा किसी व्यक्ति को कंटेनमेंट जोन से बाहर जाने या बाहर से से कंटेनमेंट जोन में जाने की इजाजत नहीं होगी। राज्य बफर और जोन की भी पहचान कर सकते हैं। 
कंटेनमेंट जोन के बाहर प्रतिबंध का फैसला राज्यों पर
गृह मंत्रालय ने कहा है कि स्थिति को देखते हुए यदि राज्यों को कंटेनमेंट जोन के बाहर कुछ गतिविधियों पर रोक की आवश्यकता महसूस होती है तो वे ऐसा कर सकेंगे।


कैलाश नगर, शिव नगर व संजय नगर बन रहा हाॅटस्पाॅट
70 दिनों पूर्व बाजारों में रौनक लौटी
अंबरनाथ। युसूफ शेख

    अंबरनाथ के कैलाश नगर निवासी एक महिला की मौत के बाद उसको नहला कर अंबरनाथ कब्रस्तान में दफनाया गया है। इस मृतक महिला की रिपोर्ट कोरोना पाॅजिटीव आने के बाद इस परिसर में हड़कंप मच गया है क्योंकि पूरे धार्मिक रस्म रिवाज के साथ उसे दफनाया गया है। इस संबंध में मुख्याधिकारी पाटनकर ने बताया मृतक महिला को डायबिटीज भी था उनके घर वालों का स्वेब कलेक्शन लिया गया है। बड़ी बात यह है कि रिपोर्ट आने से पहले ही अस्पताल ने महिला के शव को उनके परिवार के सुपुर्द क्यों किया। अब इस परिसर में कोरोना संसर्ग का फैलाव तेजी से हो सकती है। उल्हासनगर शहर में इसी तरह दो कोरोना ग्रस्त मृतक लोगों का शव परिजनों को देने के बाद यह संक्रमण उनके संपर्क में आए परिजनों में तेजी से फैल गया है।
  ज्ञात हो कि ईद से एक दिन पूर्व एक 22 वर्षीय युवक की मौत हो गई थी। उसके परिवार के सात सदस्यों को कोरोना हुआ है। उन सबका उपचार सिटी अस्पताल में चल रहा है। आज शनिवार को शिवनगर के एक 45 वर्षीय व्यक्ति की कोरोना से उल्हासनगर में मौत हो गई है। उसके शव को अंबरनाथ कब्रस्तान में लाकर शाम तक दफनाया जाएगा। इस संबंध में यहां के पूर्व नगरसेवक उमर इंजीनियर ने बताया कि तीन चार दिन से इस 45 वर्षीय व्यक्ति का उपचार उल्हासनगर के सेंट्रल अस्पताल में चल रहा था उसकी मौत हो गई है।
  अंबरनाथ पश्चिम का कैलाश नगर, शिवनगर और संजय नगर कोरोना का हाॅटस्पाॅट बनता जा रहा है। यहां से कोरोना के कई केसेस सामने आए हैं। उपरोक्त परिसर से अब तक तीन की मौत हुई है। इसके बावजूद यहां पर लोग आजादी से घूम फीर रहे हैं। सोशल डिस्टेन्सींग का कोई ख्याल नहीं रख रहा है। बरसात का मौसम शुरू हो रहा है। बरसात में इस रोग के तेजी से फैलने के आसार हैं। परिसर के निवासियों को सतर्क रहने की हिदायत की गई है।

    आज शनिवार को एक ही दिन में 17 कोरोना बाधितों के अंबरनाथ में मिलने से हड़कंप मच गया है। कुल संख्या 131 हो गई है। कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने से सिटी अस्पताल फूल हो गया है। आज के बाधितों को इन्सीट्यूशनल क्वारनटाईन सेल में रखा गया है। आज फिर एक पुलिस कर्मी बाधित पाया गया है। आज 29 स्वैब रिपोर्ट आयी है जिसमें 17 पाॅजिटीव है तो 10 नेगेटीव और 2 इनकनक्युसीव है। 81 का उपचार चल रहा है। 47 लोग कोरोना मुक्त होकर डिस्चार्ज हो गए हैं। 370 को क्वारनटाईन सेंटर में रखा गया है। आज 58 का स्वेब कलेक्शन लिया गया है। रिपोर्ट में 3 की मौत बताई गई है जबकि आज शिवनगर निवासी एक व्यक्ति की मौत हुई है इस व्यक्ति की मौत का काउंट अंबरनाथ में होता है या उल्हासनगर मेंय़ इस पर चर्चा चल रही है।
    बदलापुर में आज 7 कोरोना बाधित मिले हैं। यहां कुल संख्या 213 हो गई है 101 का उपचार चल रहा है 7 की मौत हुई है। 105 ठीक हो कर डिस्चार्ज हुए हैं। आज 21 नेगेटिव और 7 पाॅजिटीव रिपोर्ट आयी है। आज प्राप्त रिपोर्ट में टीवी9 की एक महिला पत्रकार कोरोना पाॅजिटीव पायी गई है। एक मुंबई पुलिस में कार्यरित है। आज अंबरनाथ और बदलापुर की दुकानें भी 70 दिनों के बाद खुल गई। खरीदारों की भीड़ बाजारों में देखी गई।

* नेताओं की राजनीति का शिकार हुए व्यापारी
* व्यापारिक शहर उल्हासनगर में 72 दिनों से धंधा बंद
* व्यापारियों का हाल बेहाल, बैंकें हो रही खाली
* तीन विधायक, सांसद, महापौर, नगरसेवक व नेता तथा व्यापारी संगठन राहत दिलाने में असफल
उल्हासनगर। हीरो बोधा

  देशभर में लाॅकडाऊन 25 मार्च से शुरू हुआ था लेकिन उल्हासनगर शहर में 20 मार्च से ही लाॅकडाऊन की शुरुआत हो गई थी। शहर में पहली कोरोना ग्रस्त महिला 19 मार्च को मिलने के बाद तीन दिनों तक शहर बंद रखने का आव्हान किया गया था। आज करीब 72 दिनों से शहर का व्यापार पूरी तरह ठप्प है। छोटे बड़े दुकानदारों का हाल बेहाल हो गया है उनका कहना है कि बैंक में जो पैसे रखे थे अब वो भी खत्म होने को आए है और अब अगर व्यापार न खुला तो भूखमरी की नौबत हम पर मंडरा रही है। ऐसे में व्यापारियों ने शहर में अंबरनाथ की तर्ज पर दुकानों को खोलने की मांग की है। लेकिन शहर के विधायक व नेता तमाशाबीन बनकर बैठे हुए हैं वो व्यापारियों को किसी भी तरह से राहत दिलाने का प्रयास नहीं कर रहे हैं। उल्हासनगर शहर को तीन विधायक प्राप्त हैं, मनपा में शिवसेना की सत्ता है सांसद व महापौर शिवसेना का है राज्य में शिवसेना की सत्ता है। 78 नगरसेवक हैं लेकिन कोई भी व्यापारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए उन्हें राहत नहीं दिला रहा है। किसी भी नेता अथवा नगरसेवक ने हाऊस टैक्स अथवा बिजली बंद माफ करने की भी मांग नहीं की है। शहर में तीन प्रमुख व्यापारी संगठनाएं हैं उनकी तरफ से भी व्यापारियों को राहत नहीं मिल रही है। शहर में कोरोना के मरीज की संख्या 300 पार हो गई है उसका कारण व्यापारी नहीं है उसका जिम्मेदार प्रशासन है।
   

   ज्ञात हो कि अंबरनाथ व बदलापुर शहर में आज 30 मई से कुछ शर्तों अनुसार दुकानें सुबह 9 से शाम 5 बजे तक खोलने की अनुमति दी है। प्रशासकीय अधिकारी जगतसिंग गिरासे द्वारा व्यापारियों की मांग पर ठाणे जिलाधिकारी को यह प्रस्ताव भेजा था जिसके फलस्वरूप बदलापुर व अंबरनाथ के व्यापारियों को बड़ी राहत मिली है और दो ग्रुप के अंतर्गत 3-3 दिन दुकानें खोलने का आदेश जारी हुआ है। अंबरनाथ व्यापारी संगठना ने कई दिनों से अधिकारियों के साथ संपर्क कर पत्र व्यवहार किया था। ऐसे में उल्हासनगर वासियों को यह समझ नहीं आ रहा था कि हमारे शहर के विधायक, नेता व व्यापारी संगठन क्या कर रहे हैं। हालांकि यूटीए का शिष्टमंडल शुक्रवार को मनपा आयुक्त से दुकानें खोलने की मांग की लेकिन आयुक्त उन्हाले ने उन्हें आश्वासन दिया भरोसा नहीं दिया है। उन्होंने लाॅकडाऊन 5.0 के आदेश का इंतजार करने को कहा है। यूटीए ने पूर्व आयुक्त से कुछ दिनों के लिए कुछ दुकानों को खुलवाया भी था। जबकि अगर शहर के विधायक, महापौर व नेता चाहे तो शासन से अंबरनाथ की तर्ज पर शहर में दुकानें खोलने की अनुमति ला सकते हैं लेकिन सत्तापक्ष व विरोधियों की आपसी रंजिश के चलते व्यापारियों को इसका परिणाम भुगतना पड़ रहा है क्योंकि हर कार्य हेतु श्रेय लेने के लिए होड़ मची रहती है। व्यापारी उनकी राजनीति का शिकार बन बैठे हैं।

   कई व्यापारियों ने वर्तमान विधायक कुमार आयलानी पर आरोप लगाया है कि इन ढाई महिनों में विधायक शहर में कहीं भी नजर नहीं आए वो केवल अपनी पत्नी के वार्ड में फोटो खिंचवाते हुए एक-दो बार नजर आए हैं। नेताओं की इस राजनीति का खामियाजा शहर की जनता व व्यापारी भुगत रहे हैं। व्यापारियों का कहना है कि कोरोना वायरस का प्रकोप व्यापार के कारण नहीं बढ़ रहा है यह वायरस मुंबई से आ रहा है और ज्यादातर झोपड़पट्टी इलाके में फैल रहा है। इसलिए व्यापार को शुरू करना चाहिए ताकि शहर की बिगड़ी आर्थिक व्यवस्था में सुधार आ सके। हालांकि कई व्यापारी आज भी चोरी छिपे धंधा कर रहे हैं। व्यापार के साथ रिक्शा भी कुछ घंटों के लिए शुरू करनी चाहिए। रिक्शा चालक भी भूखमरी के कगार पर हैं। कई शहरवासियों को डर है कि अगर व्यापार खुला तो शहर में भीड़ होगी और कोरोना का प्रकोप भी बढ़ेगा। इसलिए सप्ताह में 3 दिन नियमानुसार व्यापारियों ने दुकानें खोलने की अनुमति मांगी है।

* दुकानों का एक ग्रुप सोमवार, बुधवार व शुक्रवार 
तो दूसरा ग्रुप मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को खोलेगा दुकानें 
* नियमानुसार सुबह 9 से शाम 5 बजे तक खुलेंगी दुकानें
* अंबरनाथ में कोरोना के 114 मरीज
* बदलापुर में कोरोना के 206 मरीज
* कल्याण में कोरोना के 942 मरीज
अंबरनाथ। युसूफ शेख
   
   अंबरनाथ और बदलापुर में सभी दुकानें चालू करने के आदेश दोनों नपा के मुख्याधिकारी ने जारी कर दिए हैं। दुकानों को दो ग्रुप में बांटा गया है। कुछ शर्तों के आधार पर दुकानें सुबह 9 से शाम 5 बजे तक खुली रहेंगी। कोरोना वायरस को देखते हुए पूरे देश में लाॅकडाऊन शुरू है। अत्यावश्यक सेवा को छोड़कर सभी दुकानें 70 दिनों से बंद हैं। अंबरनाथ व्यापारी संघ अध्यक्ष खानजी धल एवं पदाधिकारियों ने दुकानें खोलने के लिए प्रशासन पर दबाव डालते हुए तीन बार पत्र व्यवहार किया था। जिसमें उन्हें सफलता मिली है। दै. उल्हास विकास ने ये खबर दी थी कि 1 जून से दुकानें खुलेंगी और वह सही साबित हुआ। 
   दुकानों में ग्रुप इस प्रकार है जिसमें एक ग्रुप में हार्डवेयर, इलेक्ट्रानिक्स, कटलरी, जनरल स्टोअर्स, बर्तन, स्पोर्ट्स, खिलौने, बैग की दुकान, बिल्डिंग मटेरियल, बुक स्टाॅल, स्टेशनरी, झेराक्स, चश्मा दुकान, आटे की चक्की, फर्निचर फैबरीकेशन की दुकानों का समावेश किया गया है। यह दुकानें हफ्ते में तीन दिन सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को सुबह 9 से 5 बजे तक खुली रहेगी। ग्रुप दो में ज्वेलर्स, कपड़े की दुकान, टेलर, चप्पल की दुकान, फोटो स्टूडियो, मोबाईल शाॅप, घड़ी की दुकान, गैरेज, लांड्री, आईस्क्रीम पार्लर की दुकानें मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को सुबह 9 से 5 बजे तक खुली रहेंगी। स्वीट शाॅप, ड्राय फ्रूट, बेकरी को केवल पार्सल व्यवस्था इन शर्तों दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है।
  अंबरनाथ में शुक्रवार को कोरोना के 11 नए मरीज मिले हैं इसी के साथ अंबरनाथ नगरपरिषद क्षेत्र में कोरोना मरीजों की संख्या 114 हो गई है। यहां पर कुल 47 मरीज कोरोना मुक्त हुए हैं और मरने वालों की संख्या तीन हो गई है। 64 एक्टिव मरीजों का ईलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है।
  कुलगांव बदलापुर नगरपरिषद क्षेत्र में आज केवल दो ही मरीज मिले हैं जिससे यहां कोरोना ग्रस्त मरीजों की संख्या 206 हो गई है। करीब 100 मरीज कोरोना मुक्त हो चुके हैं और 7 लोगों की मौत हुई है। 99 एक्टिव मरीजों का ईलाज विभन्न अस्पतालों में चल रहा है।
  कल्याण डोम्बिवली महानगरपालिका में कोरोना संक्रमितों के आंकड़े थमने का नाम नही ले रहे है इसी क्रम में शुक्रवार को भी 31 कोरोना संक्रमित मरीज पाये गए है जिंसके साथ ही पीड़ितों की कुल संख्या 942 तक जा पहुची है इनमें 589 मरीजो का उपचार चल रहा है तो वही 326 लोग डिस्चार्ज हो चुके है । आज कुल 31 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाये गए है जिनमें ठाकुर्ली में 1महिला, डोम्बिवली पश्चिम में 2 पुरुष, डोम्बिवली पूर्व मे 4 पुरुष, कल्याण पश्चिम में 5 पुरूष व 2 महिला, कल्याण पूर्व में 9 पुरुष व 8 महिला कोरोना संक्रमित पाये गए है। इस नए आंकड़े के बाद अब तक कल्याण पूर्व में 290, कल्याण पश्चिम में 166, डोंबिवली पूर्व में 212, डोंबिवली पश्चिम में 188, मांडा टिटवाळा में 52, अंबिवाली में 19, शहद में 3, ठाकुर्ली में 4 तथा मोहने में 8 मरीज कोरोना से संक्रमित पाये जा चुके है।


* एक ही दिन में मिले 33 मरीज, एक की मौत
* 175 एक्टिव मरीज, 120 कोरोना मुक्त
* आज कैम्प 3 हिराघाट परिसर से मिले 17 कोरोना ग्रस्त
* कैम्प 3 सम्राट अशोक नगर से सबसे ज्यादा 75 मरीज अब तक मिले
* शहर में दुकानों को खोलने हेतु यूटीए शिष्टमंडल मिला आयुक्त से
उल्हासनगर। हीरो बोधा
   उल्हासनगर शहर में कोरोना कहर से शुक्रवार को 33 नए मरीज मिले है जिसमें उल्हासनगर-5 सेक्शन 35 निवासी एक 55 वर्षीय व्यक्ति की मौत भी हुई है। अब शहर में कोरोना ग्रस्त मरीजों की संख्या कुल 305 है जबकि मरने वालों की तादाद 10 हो गई है। एक ही दिन में सबसे ज्यादा मरीज आज शुक्रवार को मिले हैं। जिसमें से कैम्प 3 हिराघाट परिसर से 17 मरीज मिले हैं, आनंद नगर क्षेत्र से 5, सम्राट अशोक नगर से 4, ओटी सेक्शन से 1, सुभाष नगर से 1 मरीज, कैम्प 2 बेवस चौक रायल हाईट से 1 मरीज, उल्हासनगर-4 के सुभाष टेकड़ी से दो मरीज व संतोष नगर से 1 मरीज मिला है। आज 10 मरीजों को डिस्चार्ज मिलने के बाद कुल 120 कोरोना मुक्त हो चुके हैं वहीं 175 एक्टिव मरीजों का ईलाज अस्पताल में चल रहा है। उल्हासनगर-3 के सम्राट अशोक नगर से अब तक 75 मरीज मिले हैं जो शहर में सबसे अधिक है। कैम्प 3 के ब्राह्मणपाड़ा से अब तक 52 मरीज मिले हैं और खन्ना कंपाऊड से 21 मरीज। अब नया हाॅटस्पाॅट हिराघाट परिसर बनते जा रहा है यहां एक ही दिन में 17 मरीज मिले हैं। कोविड अस्पताल में 75, कामगार अस्पताल में 87, टेऊराम में 5, ठाणे में 2, कल्याण में 2, भिवंडी में 1 और कामा अस्पताल में 3 मरीजों का ईलाज चल रहा है। इनमें से 158 मरीजों में कोरोना के लक्षण कम हैं। 12 में ज्यादा है। 5 मरीज आक्सीजन पर हैं। 
  उल्हासनगर शहर में दुकानें व व्यापार पिछले करीब 71 दिनों से बंद पड़ा हुआ है जिससे छोटे बड़े दुकानदार व व्यापारियों को आर्थिक तंगी का सामान करना पड़ रहा है। ऐसे में उल्हासनगर ट्रेड एसोसिएशन के अध्यक्ष सुमीत चक्रवर्ती, कार्याध्यक्ष दीपक छतलानी व दिनेश लहरानी ने मनपा आयुक्त समीर उन्हाले से मिलकर दुकानों को खोलने की मांग की है। अध्यक्ष चक्रवर्ती ने बताया कि देश में सबसे पहले लाॅकडाऊन की शुरुवात उल्हासनगर से हुई थी तब शहर में कोरोना का एक ही मरीज था लेकिन अब मरीजों की संख्या 300 पार हो गई है लेकिन यह संख्या व्यापारियों अथवा दुकानदारों के कारण नहीं हुई है मुंबई से आने वाले लोगों के संपर्क में यह संख्या बढ़ रही है। अगर प्रशासन ने पहले दिन से ही सीमाओं पर सख्ती की होती तो शहर में ऐसे मामलों को काबू में पाया जा सकता था। लेकिन अब जबकि कई शहरों में व्यापार को अनुमति मिल रही है ऐसे में उल्हासनगर में भी अब व्यापार व दुकानों को खोलने की अनुमति दी जाएं। हर नियमों का पालन करने के लिए व्यापारी तैयार है ऐसे में उनको अनुमति देने की मांग आयुक्त से की गई है। आयुक्त उन्हाले ने कहा कि लाॅकडाऊन 5.0 में अगर ऐसा कोई नियम आता है तो मैं जरूर ही व्यापार व दुकानों को खोलने की अनुमति दूंगा। वहीं कार्याध्यक्ष दीपक छतलानी ने कहा कि अगर आयुक्त हमारी मांग नहीं मानेंगे तो हम इस विषय में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, सांसद श्रीकांत शिंदे, पालक मंत्री एकनाथ शिंदे से भी मुलाकात कर दुकानों को खुलवाने का हर संभव प्रयास करेंगे।

* कोरोना पीड़ित बच्ची रोते रही पर उसे नहीं दिया गया दूध
* बच्ची की मां, पिता और परिवार के चार सदस्य कोरोना ग्रस्त
* अंबरनाथ प्रशासन एवं नेता चुप?
अंबरनाथ। युसूफ शेख
   अंबरनाथ में एक दिल दहला देने वाली घटना शुक्रवार सुबह को कोरोना संक्रमित एक 14 माह की बच्ची की सिटी अस्पताल में सुबह 10.30 बजे तक प्रशासन द्वारा दूध तक नहीं दिया गया। इस बच्ची और उसकी मां पिता को कोरोना हुआ है। ये तीनों गुरुवार को सिटी अस्पताल में उपचार हेतु दाखिल हैं। शुक्रवार सुबह 10.10 बजे उसकी मां ने हमें रोते हुए फोन करके कहा कि उसकी बच्ची सुबह से भूखी है। भूख से वह लगातार हो रही है, पर बच्ची के रोने की साफ आवाज सुनाई दी रही थी। हम उस समय पूर्णिमा जावले मैडम के पेपर स्टाॅल पर खडे थे। हमने जावले मैडम से पीड़ित महिला को दुखडा सुनाने को कहा। बच्ची के रोने की आवाज और एक मां की फिर्याद सुनकर मैडम की भी आंखों में आंसू आ गए। हमने तुरंत ठेकेदार को फोन करके बच्ची को तुरंत दूध पहुंचाने के लिए कहा। बच्ची को 15 मिनट के भीतर दूध पहुंचाया गया। ये हाल है अंबरनाथ नपा प्रशासन द्वारा चलाए जा रहे कोविड कोरोना सिटी अस्पताल का। सभी पक्ष के नेताओं से हम अपील करते हैं कि वह इस सिस्टम के खिलाफ आवाज उठाएं हमारे नेता तब तक चुप बैठे रहेंगे। इससे पूर्व भी क्वारनटाईन सेंटर आर्चिड में भी एक दिन यहां पर दोपहर तक क्वारनटाईन सेंटर गए लोगों को भोजन नहीं मिला था। हमने एवं विधायक बालाजी किणीकर जब आवाज उठाई तो वहां भोजन पहुंचाया गया। विदित हो कि ईद के एक दिन पूर्व शहर पश्चिम के संजय नगर निवासी एक युवक की कोरोना से मौत हो गई थी। उस युवक के भाई भाभी की बच्ची, नानी, मामी और एक लड़की ऐसे कुल सात घर वालों को कोरोना पाॅजिटीव है। ये सभी सिटी अस्पताल में अपना उपचार करवा रहे हैं।

उल्हासनगर में गुरुवार को 26 नए मरीज
अंबरनाथ में गुरुवार को 18 नए मरीज
* उल्हासनगर में 153 एक्टिव मरीज, 110 कोरोना मुक्त
* अंबरनाथ में 58 एक्टिव मरीज, 43 कोरोना मुक्त
* बदलापुर में 101 एक्टिव मरीज, 96 कोरोना मुक्त
* कल्याण में 587 एक्टिव मरीज, 297 कोरोना मुक्त
 उल्हासनगर। उल्हासनगर महानगरपालिका क्षेत्र में गुरुवार को कोरोना से संक्रमित 26 नए मरीज मिले हैं। जिससे शहर में कोरोना ग्रस्त मरीजों की संख्या अब 272 हो गई है। जिसमें कोरोना मुक्त कुल मरीजों की संख्या 110 है। अब तक 9 लोगों की मृत्यु हो चुकी है और 153 एक्टिव मरीज अपना ईलाज कोविड अस्पताल में करवा रहे हैं। गुरुवार को मिले मरीजों में उल्हासनगर-3 परिसर के ही ज्यादातर मरीज हैं। उल्हासनगर-3 के हाॅटस्पाट ओटी सेक्शन, सम्राट अशोक नगर से 15, चोपड़ा कोर्ट परिसर से 4, हिराघाट परिसर से 3, आंबेडकर नगर, खेमानी से 1, लक्ष्मीधाम अपार्टमेंट के पास 1, उल्हासनगर-4 सुभाष टेकड़ी परिसर से 1,उल्हासनगर-5 कुर्ला कैम्प रोड से 1 कोरोना बाधित मिला है। इन सभी 26 नए मरीजों को कैम्प 4 के कोविड अस्पताल में दाखिल किया गया है यहां 72 मरीजों का ईलाज चल रहा वहीं कामगार अस्पताल में 68 मरीजों है, कैम्प 5 के कोरोना केयर सेंटर टेऊराम में 5 मरीज हैं। ठाणे में 2, कल्याण में 2, भिवंडी में 1 और कामा मुंबई में 3 मरीज अपना ईलाज करवा रहे हैं। गुरुवार को कामगार अस्पताल से 14 मरीज कोरोना मुक्त होकर अपने घर गए हैं। आक्सीजन पर 5 मरीज हैं वेंटीलेटर पर कोई भी मरीज नहीं है। 136 मरीजों में कोरोना के कम लक्षण हैं वहीं 12 मरीज में कोरोना के लक्षण अधिक हैं। ऐसा मनपा द्वारा जारी विज्ञप्ति में बताया गया है।
अंबरनाथ। अंबरनाथ में गुरुवार को 18 कोरोना बाधित मिलने से यहां कोरोना बाधितों की संख्या ने शतक क्रास कर लिया है। कुल संख्या 103 हो गई है। अंबरनाथ में तीन पुलिस कर्मियों को कोरोना पाॅजिटीव पाया गया है। तीनों को उपचार हेतु सीटी अस्पताल में दाखिल कराया गया है। आज एक 18 माह की लड़की को भी कोरोना ग्रस्त पाया गया है। एक 55 वर्षीय पुलिस कर्मी जो ठाणे में कार्यरित है उसे भी कोरोना हो गया है। वो अंबरनाथ निवासी है। विदित हो कि इससे पूर्व अंबरनाथ में तीन पुलिसकर्मियों को बाधित पाया गया और 5 आरोपियों को जो जेल में कैद थे उन्हें भी कोरोना ग्रस्त पाया गया था। अंबरनाथ पुलिस स्टेशन पर कोरोना का कहर टूट पड़ा है। पुलिस कर्मी काफी परेशानी दिखाई दे रहे हैं। पुलिस स्टेशन में पुलिस कर्मियों की संख्या भी कम हो गई है। अंबरनाथ में 43 मरीजों ठीक होकर डिस्चार्ज किए गए हैं। 58 बाधितों का उपचार चल रहा है ये कहा जा सकता है एक्टिव मरीज 58 हैँ। 719 लोगों के अब तक स्वेब लिए गए हैं। जिसमें से 475 नेगेटिव आए हैं। 112 के रिपोर्ट की प्रतिक्षा है। बाधितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है लेकिन अंबरनाथ नपा द्वारा भेजे गए प्रेस नोट में कोई नया प्रतिबंधित क्षेत्र नहीं बताया गया है। ये आश्चर्य की बात है कुल 103 मरीज है और प्रतिबंधित क्षेत्र केवल 18 है। स्वत के घर में 304 लोगों को क्वारनटाईन किया गया है। नपा के क्वारनटाईन सेंटर में 21 लोग हैं।
 बदलापुर। बदलापुर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों के कारण यहां के लोगों में दक्षता लेते हुए प्रशासन द्वारा दिए जा रहे सूचनाओं का सख्ती से पालन करना होगा। यहां गुरुवार को 12 कोरोना बाधित मिले हैं। अब बाधितों की संख्या दोहरे शतक को पार कर गई है। अब कुल 204 मरीज हो गए हैं। आज मिले बाधितों में दो पुलिस कर्मी हैं। एक उल्हासनगर पुलिस स्टेशन में कार्यरित है तो दूसरा मुंबई पुलिस कर्मी है। एक कुपर अस्पताल से आया है। बदलापुर में 101 लोगों का विभिन्न अस्पताल में उपचार चल रहा है। यहां पर 96 ठीक होकर घर चले गए हैं। आज 23 रिपोर्ट प्राप्त हुए हैं जिनमें 11 नेगेटिव हैं तो 12 पाॅजिटीव हैं। 54 को क्वारनटाईन किया गया है। यहां पर 57 प्रतिबंधित क्षेत्र हैं।
 कल्याण। कल्याण डोम्बिवली मनपा अंतर्गत गुरुवार को 29 कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए है इसी के साथ शहर में पीड़ितों की कुल संख्या 911 तक जा पहुची है इनमें 587 मरीजों का उपचार चल रहा है तो वहीं 297 लोग डिस्चार्ज हो चुके है वही मृतकों की संख्या बढ़कर 27 तक जा पहुची है। आज कुल 29 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए है जिनमें अंबिवली में 1 महिला, ठाकुर्ली में 1 पुरुष, डोम्बिवली पश्चिम में 1 पुरुष व 2 महिला, डोम्बिवली पूर्व मे 7 पुरुष व 4 महिला, कल्याण पश्चिम में 1 पुरूष, कल्याण पूर्व में 10 पुरुष व 2 महिला कोरोना संक्रमित पाये गए है । इस नए आंकड़े के बाद अब तक कल्याण पूर्व में 273, कल्याण पश्चिम में 159, डोंबिवली पूर्व में 208, डोंबिवली पश्चिम में 186, मांडा टिटवाला में 52, अंबिवाली में 19, शहद में 3, ठाकुर्ली में 3 तथा मोहने में 8 मरीज कोरोना से संक्रमित पाये जा चुके है ।
 भिवंडी। भिवंडी निजामपुर मनपा क्षेत्र में आज 12 मरीज मिले हैं जिससे यहां मरीजों की कुल संख्या 185 हो गई है। जिसमें शहर परिसर से 105 मरीज हैं और ग्रामीण क्षेत्र से 80 मरीज बताए गए हैं। यहां 89 एक्टिव मरीजों का ईलाज अभी भी अस्पतालों में चल रहा है। 7 कोरोना ग्रस्त मरीजों की मौत इस क्षेत्र में हुई है।
 नवी मुंबई। नवी मुंबई महानगरपालिका क्षेत्र में आज 78 नए मरीज मिले हैं जिससे इस क्षेत्र में मरीजों की कुल संख्या 1931 हो गई है। अब तक 881 मरीज कोरोना मुक्त हो चुके हैं जबकि 61 लोगों की मौत हो गई है।989 एक्टिव मरीजों का ईलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। आज बेलापुर से 13, नेरुल से 11, वाशी से 7, तुर्भे से 23, कोपरखैरणे से 8, घणसोली से 4, ऐरोली से 11 व दिघा से 1 मरीज मिला है।






* अंबरनाथ में आज 7 पाॅजिटीव मरीज मिले
* बदलापुर में आज 13 पाॅजिटीव मरीज मिले
अंबरनाथ स्टेशन पर खुलेआम शराब बिक्री जारी
 
   अंबरनाथ। अंबरनाथ में बुधवार को 7 कोरोना से पीड़ित प्राप्त हुए हैं। यहां पर मरीजों की संख्या 85 हो गई है। अब तक यहां पर 2 लोगों की मौत हुई है। आज 12 रिपोर्ट में से 5 नेगेटिव और 7 पाॅजिटीव बाधित हैँ। आज एक भी कोरोना बाधित ठीक नहीं हुआ है। सिटी अस्पताल में किसी को भी डिस्चार्ज नहीं किया गया है। 51 का उपचार विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। सिटी अस्पताल में 27 का उपचार हो रहा है। 140 के स्वेब रिपोर्ट की प्रतिक्षा है। 690 लोगों का स्लेब कलेक्शन किए गए थे। जिसमें से 458 की रिपोर्ट नेगेटीव आयी है। अंबरनाथ में 19 प्रतिबंधित क्षेत्र हैं। शहर के गली कुचे, मुख्य बाजारों में सुबह से दोपहर तक लोगों की भारी भीड़ दिखाई दी रही है। फेरीवाले भी मुख्य चौक पर ठेला लगाकर आजादी से धंधा कर रहे हैँ। पुलिस भी इन बातों पर ध्यान नहीं दे रही है। शहर के मुख्य चौक से नाकाबंदी भी हटा दी गई है। लोगों की लापरवाही कोरोना को दावत दे रही है। स्टेशन पर सागर वाईन और अंबर वाईन दुकानदार अपनी दुकानें बंद रखकर छुपे रास्ते से लोगों को शराब बेच रहे हैं। इन दोनों दुकानों के सामने शराब खरीदने वालों की भीड़ देखी जा रही है। सरकार ने आनलाईन व होम डिलेवरी शराब बेचने की अनुमति दी है लेकिन ये दोनों दुकानदार खुलेआम लोगों को सड़कों पर लाकर शराब बेच रहे हैं।
   बदलापुर। बदलापुर में बुधवार को 13 कोरोना बाधित लोग मिले हैं। यहां पर कुल मरीजों की संख्या 192 हो गई है। ये संख्या 200 को क्रास कर सकती है। यहां पर ठीक होने वालों की संख्या 40 प्रतिशत है। कुल 85 बाधित ठीक करके डिस्चार्ज किए गए हैं। 7 मरीजों की मौत हुई है। 100 का उपचार विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। आज कोरोना पाॅजिटीव 13 बाधित में तीन मुंबई पुलिस कर्मी है। आज प्राप्त हुई रिपोर्ट में 14 नेगेटिव और 13 पाॅजिटीव पाए गए हैं। 56 को क्वारनटाईन किया गया है।
   नवी मुंबई। नवी मुंबई मनपा क्षेत्र में आज 79 कोरोना मरीज मिले हैं ऐसे अब तक कुल 1853 मरीज हो गए हैं। बुधवार को 5 कोरोना मरीजों की मौत हुई है। मरने वालों का कुल आकड़ा यहां 59 हो गया है। 840 कोरोना मुक्त के बाद अब तक 954 एक्टिव मरीजों का ईलाज चल रहा है।
   कल्याण। कल्याण-डोंबिवली महानगरपालिका क्षेत्र में आज 57 मरीज मिले हैं जिससे यहां कोरोना मरीजों की कुल संख्या 882 हो गई है। 286 मरीज अब तक कोरोना मुक्त हो चुके हैं जबकि 26 लोगों की मौत हुई है। वहीं 570 मरीजों का ईलाज अभी भी विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है।

अब तक कुल 246 कोरोना ग्रस्त, 96 कोरोना मुक्त, 
9 की मौत, 141 एक्टिव मरीज
* मनपा आयुक्त के बदले जाने से स्थिति और भी बिगड़ी
* कैम्प 1 राजीव गांधी नगर से 7, साधुबेला स्कूल परिसर से 1, 
* कैम्प 2 ओटी सेक्शन से 1 * कैम्प 3 सम्राट अशोक नगर से 11, 
* कैम्प 4 गजानंद नगर से 1
* कैम्प 5 रविंद्र नगर से 6, अंबिका माता मंदिर से 2, कुर्ला कैम्प से 1, सेक्शन 35 से 1, आंबेडकर नगर से 1
  उल्हासनगर। उल्हासनगर शहर में बुधवार को फिर कोरोना ब्लास्ट हुआ है इस ब्लास्ट से 32 नए मरीज पाॅजिटीव पाए गए हैं जो एक ही दिन में अब तक की सबसे अधिक वृद्धी है। इस कोरोना बम से शहर में अब तक कोरोना मरीजों की संख्या 246 हो गई है। 96 मरीज कोरोना मुक्त हो चुके हैं जबकि 9 मरीजों की मौत भी हुई है और 141 एक्टिव मरीजों का ईलाज अस्पताल में चल रहा है। कोरोना के एक ही दिन में रिकार्ड तोड़ बढ़ोत्तरी शहर के लिए चिंता का विषय है। कुछ दिनों पूर्व महानगरपालिका के आयुक्त की बदली हुई थी उससे ऐसा अनुमान था कि शहर में कोरोना नियंत्रण में रहेगा लेकिन उल्ट शहर की स्थिति और भी बिगड़ गई है। आश्चर्य की बात यह है कि उल्हासनगर शहर के हर कैम्प से कोरोना मरीज मिले हैँ।
  मार्च व अप्रैल में जहां कोरोना के केवल 10 मरीज थे वहीं इस मई माह में यह आकड़ा 250 के करीब पहुंच गया है। यह मनपा प्रशासन की लापरवाही है अथवा लोगों की बेपरवाही यह तो साफ है क्योंकि जहां लोग आज भी बेपरवाह गुम रहे हैं वहीं प्रशासन की भी लापरवाही कई बार सामने आ चुकी है। अब मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते नेताओं के दबाव में ट्रस्ट के अस्पताल व स्कूलों पर प्रशासन की नजर है जबकि मनपा के पास प्रशासन के स्कूल सहित टाॅऊन हाॅल व अंबरनाथ गेट पर साई बाबा मंदिर के पीछे निजी अस्पताल मौजूद है फिर भी इसमें देरी क्यों की जा रही है यह समझ नहीं आ रहा है। यहां पर भी राजनीति चल रही है।
   बुधवार को उल्हासनगर-1 से 5 तक इन क्षेत्रों में 32 मरीज मिले हैं उनमें कैम्प 1 राजीव गांधी नगर से 7, साधुबेला स्कूल परिसर से 1, कैम्प 2 ओटी सेक्शन से 1, कैम्प 3 सम्राट अशोक नगर से 11, कैम्प 4 गजानंद नगर से 1, कैम्प 5 रविंद्र नगर से 6, अंबिका माता मंदिर से 2, कुर्ला कैम्प से 1, सेक्शन 35 से 1, आंबेडकर नगर से 1 का समावेश है। सभी मरीजों को उपचार हेतु अस्पताल में दाखिल किया गया है और उनके संपर्क में आए लोगों को क्वारनटाईन किए जाने की प्रक्रिया चल रही है। मनपा की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार 141 एक्टिव मरीजों में से कोविड अस्पताल में 66, कामगार अस्पताल में 67, ठाणे में 2, कल्याण में 2, भिवंडी में 1 व मुंबई के कामा अस्पताल में 3 मरीजों को ईलाज के लिए रखा गया है। करीब 10 मरीजों को आक्सीजन व वेंटीलेटर पर रखा गया है। लाॅकडाऊन 4.0 की अवधि अब समाप्त हो रही है ऐसे में क्या लाॅकडाऊन बढ़ेगा इस पर सबकी नजर है। महाराष्ट्र व शहर में गंभीर हालातों के कारण इसे और भी बढ़ाया जा सकता है।

प्रांत अधिकारी ने जिलाधिकारी को भेजा प्रस्ताव
लॉकडाऊन 5.0 में मिलेगी छूट?
  अंबरनाथ। अंबरनाथ, उल्हासनगर और बदलापुर शहर की जीवनावश्यक वस्तुओं की दुकानों के साथ अन्य दुकानें शुरू करने का प्रस्ताव प्रांत अधिकारी जगतसिंग गिरासे ने ठाणे जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर को भेजा है। लॉकडाऊन को 75 दिन हो गए हैं। तभी से ये दुकानें बंद हैं। कपड़े, चप्पल, घरगुती इस्तेमाल व अन्य साहित्य की दुकानें किन नियमों एवं शर्तों के साथ खोली जाएं इस पर राय मांगी गई है। शहरवासियों के लिए गत ढाई महिने से कपड़े, चप्पल, इलेक्ट्रानिक्स वस्तु, प्लास्टिक ताडपत्री, गृहोपयोगी वस्तु, हार्डवेयर, बांधकाम साहित्य की दुकानें, चश्मा, स्कूल साहित्य, खाद्य पदार्थ, बिक्री की दुकानें बंद होने से परेशानी हो रही है। दुकानदारों का ये भी कहना है कि ढाई महिने से दुकानें बंद होने के कारण उनके सामान खराब हो रहे हैं। अंबरनाथ, उल्हासनगर के व्यापारी संघटनाओं ने बार-बार पत्र देकर ये मांग की है कि जीवन आवश्यक वस्तुओं की दुकानों के साथ अन्य दुकानें भी नियमों के साथ खोलने की इजाजत दी जाए। इसी मांग को लेकर प्रांत अधिकारी ने जिलाधिकारी से राय मांगी है।
  विदित हो कि उल्हासनगर के प्रांत अधिकारी गिरासे अबंरनाथ व बदलापुर के प्रशासकीय अधिकारी भी हैं। उल्हासनगर महानगरपालिका, अंबरनाथ एवं बदलापुर नपा की दुकानें कोरोना ससंर्ग नियमों का पालन करते हुए शुरू किए जाने का प्रस्ताव प्रस्ताव जिलाधिकारी को भेजा गया है। उपरोक्त दुकानें शुरू होने से शहरवासियों को मानसून शुरू होने से पूर्व जरूरी साहित्य मिल सकेंगे। तीनों शहर के कुछ दुकानदार चोरी छिपे आधा शटर डाऊन करके डरते हुए मामूली व्यापार कर रहे हैं तो कुछ दुकानदार रोजाना अपनी दुकानों के समक्ष ये सोचकर आकर खड़े हो जाते हैं कि अभी आर्डर आएगा तो वह अपनी दुकानें खोलेंगे। आशा की जा रही है कि दुकानें नियमों व शर्तों के अनुसार एक जून से शुरू होंगी। वहीं महाराष्ट्र में कोरोना की गंभीर स्थिति को देखते हुए लॉकडाऊन 5.0 भी देखने को मिल सकता है। अभी भी जनजीवन सामान्य होने में जून का महिने भी गुजर सकता है।

   अंबरनाथ। आज अंबरनाथ में 12 कोरोना पाॅजिटीव रोगी मिलने से शहरवासियों में घबराहट का वातावरण है। आज तक कोरोना बाधितों की संख्या 78 हो गई है। 27 लोगों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। दो की मौत हो गई है। सिटी अस्पताल में 26 मरीजों का उपचार चल रहा है। 49 रोगी का उपचार विविध अस्पतालों में चल रहा है। 333 लोगों को क्वारनटाईन किया गया है। 661 लोगों का स्वैब कलेक्शन किया गया है। 123 लोगों के रिपोर्ट की प्रतिक्षा है। आज शिवाजी नगर पुलिस स्टेशन के एक पुलिस कर्मी को कोरोना पाॅजिटीव पाया गया है। जिसके कारण पुलिस स्टेशन को सेनीटाईज किया गया। आज के 10 कोरोना रोगी को सिटी अस्पताल शहर पूर्व में उपचार हेतु भर्ती किया गया है। आज 24 रिपोर्ट प्राप्त हुए हैं जिसमें से 12 पाॅजिटीव और 9 नेगेटिव और 3 इनकनक्ल्युसीव पाए गए हैं। आज एक खबर सऊदी अरब के रियाद शहर से आयी है। जहां अंबरनाथ के जुना भेंडीपाड़ा निवासी 50 वर्षीय व्यक्ति को नौकरी के सिलसिले में रियाद गए हुए थे उनकी कोरोना से मौत हो गई है ये व्यक्ति मुस्लिम जमात अध्यक्ष सलीम चौधरी के चाचा का लड़का है उसे वहीं पर दफनाया गया है। 
  बदलापुर। बदलापुर में आज 5 नए कोरोना रोगी मिले हैं। यहां कोरोना बाधितों की कुल संख्या 179 हो गई है। यहां 7 की मौत हुई है। 99 का उपचार चल रहा है। पांच प्राप्त मरीजों में एक मुंबई में पुलिस है तो दूसरा भाभा अस्पताल में इंजीनियर है। बदलापुर में 66 लोग क्वारनटाईन हैं। 73 ठीक होकरघर गए तो 32 लोगों के स्वेब रिपोर्ट की प्रतिक्षा है।
  नवी मुंबई। नवी मुंबई मनपा क्षेत्र में मंगलवार को 63 नए मरीज मिले हैं जिससे यहां मरीजों की कुल संख्या 1774 हो गई है। 802 मरीज कोरोना मुक्त होकर डिस्चार्ज हुए हैं। आज दो मरीजों की मौत हुई है। अब तक कुल 54 मरीजों की कोरोना से मौत हो चुकी है।
 कल्याण। कल्याण डोंबिवली महानगरपालिका क्षेत्र में आज 21 कोरोना संक्रमित मरीज पाये गए है इसी के साथ शहर में पीड़ितों की कुल संख्या 825 तक जा पहुची है इनमें 522 मरीजो का उपचार चल रहा है तो वही 280 लोग डिस्चार्ज हो चुके है वही मृतकों की संख्या बढ़कर 23 तक जा पहुची है।  आज कुल 21 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाये गए है जिनमें अंबिवली में 1 महिला, डोम्बिवली पश्चिम में 1 पुरुष व 5 महिला, डोम्बिवली पूर्व मे 3 पुरुष व 1 महिला, कल्याण पश्चिम में 3 पुरुष व 1 महिला, कल्याण पूर्व में 4 पुरुष व 2 महिला कोरोना संक्रमित पाये गए है । इस नए आंकड़े के बाद अब तक कल्याण पूर्व में 241, कल्याण पश्चिम में 150, डोंबिवली पूर्व में 180, डोंबिवली पश्चिम में 183, मांडा टिटवाळा में 47, अंबिवाली में 15, शहद में 1 तथा मोहने में 8 मरीज कोरोना से संक्रमित पाये जा चुके है ।

मनपा के टाऊन हाॅल को कोविड सेंटर के लिए इस्तेमाल किया जाए
मंगलवार को मिले पांच नए मरीज, सभी महिलाएं
   उल्हासनगर। उल्हासनगर शहर में मंगलवार को पांच नए कोरोना ग्रस्त मरीज मिले हैं जिससे अब शहर में कोरोना ग्रस्त मरीजों की संख्या 214 हो गई है। 10 मरीजों के आज कोरोना मुक्त होने के चलते उन्हें डिस्चार्ज मिला है। अब तक कुल 81 मरीज कोरोना मुक्त हो चुके हैं। शहर में कुल 124 एक्टिव कोरोना मरीजों का ईलाज अस्पताल में चल रहा है। ऐसी जानकारी महापालिका आरोग्य अधिकारी डाॅ. मोहनालकर ने प्रेस विज्ञप्ति द्वारा दी है।
  विज्ञप्ति के अनुसार उल्हासनगर शहर में मंगलवार को उल्हासनगर-3 स्टेशन रोड स्थित सेक्शन 22, कंवरराम चौक के पास 24 व 28 वर्षीय युवती कोरोना पाॅजिटीव पायी गई है। उल्हासनगर-4 स्थित स्कूल नं.14 के पास एक 36 वर्षीय महिला कोरोना बाधित हुई है। वहीं उल्हासनगर-5 के रविंद्र नगर से 75 व 42 वर्षीय महिला कोरोना ग्रस्त पायी गई है। इस तरह आज 5 महिलाएं कोरोना बाधितओं को उल्हासनगर-4 के कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मंगलवार को 10 कोरोना के मरीजों को डिस्चार्ज दिया गया है। अब तक 81 कोरोना मुक्त हो चुके हैं। 9 लोगों की मौत हुई है। जबकि 124 एक्टिव मरीजों का ईलाज अस्पताल में चल रहा है। उनमें से 8 मरीज आक्सिजन व वेंटीलेटर पर हैं। 91 मरीजों में कोरोना के कम लक्ष्ण हैं जबकि 17 मरीजों में कोरोना के लक्षण अधिक हैं। कैम्प 4 के कोविड अस्पताल में 58 और कामगार अस्पताल में 60 मरीजों का ईलाज चल रहा है। ठाणे में 2, कल्याण में 2, भिवंडी में 1 और कामा अस्पताल मुंबई में उल्हासनगर का एक कोरोना मरीज एडमिट है। 
सर्वानंद अस्पताल को कोविड अस्पताल बनाए जाने का विरोध
   उल्हासनगर कैम्प 5 के प्रसिद्ध स्वामी सर्वानंद हॉस्पिटल को कोविड के ईलाज के लिए इस्तेमाल किये जाने के प्रस्ताव का विरोध हर सामाजिक, राजनीतिक और व्यावसायिक क्षेत्र से हो रहा है। उल्हासनगर गार्मेंट्स मेन्युफेक्चरिंग असोसिएशन की तरफ से भी उक्त प्रस्ताव का विरोध किया गया है, उल्हासनगर-5 स्थित जीन्स व गाउन मेन्युफेक्चरिंग करने वालों की संस्था के अध्यक्ष गोपी वाधवानी द्वारा विरोध जताते हुए ये जानकारी दी गई की, उल्हासनगर महानगरपालिका स्वामी सर्वानंद हॉस्पिटल को कोविड19 इलाज के लिए इस्तेमाल करना चाहती है इसका हम सभी उल्हासनगर 5 के रहिवासियों के साथ विरोध करते है क्योंकि ये एकमात्र ऐसी हॉस्पिटल है जहाँ रोज हजारों गरीबों का इलाज बहुत ही सस्ती दरों में होता है और कई सारी बीमारियों का इलाज होता है और यहां पर रोज तकरीबन 100 डायलेसिस भी किए जाते है व कई किस्म के रोज ऑपरेशन किए जाते है, अगर यहाँ पर कोविड19 का हॉस्पिटल के लिए इस्तेमाल किया गया तो इस हॉस्पिटल से जो हजारों लोग इलाज करवाते है उन लोगों का क्या होगा? 
   सरकार ने हाल ही में यह आदेश निकाला है कि सभी प्राइवेट हॉस्पिटल को सरकार अपने इस्तेमाल के लिए ले सकती है और उल्हासनगर में सभी सुविधा से लैस बहुत सारी क्रिटीकेअर जैसी हाॅस्पिटले है उन जैसी सभी हॉस्पिटलों को कोविड19 हॉस्पिटल बनानी चाहिए ना की जहाँ पर गरीबों का इलाज होता है उन हॉस्पिटल को। उन्होंने ये कहा कि हमें तो ये लगता है उन सभी हॉस्पिटलों को जानबुझ कर नहीं लिया जा रहा है जैसे वो सभी गरीबों को लूट सके क्योंकि अगर गरीबों का इलाज करने वाली हॉस्पिटल ही खाली नहीं होगी तो लोग क्रिटीकेयर जैसी हॉस्पिटलों में अपना इलाज कराने के लिए मजबूर हो जाएंगे जहाँ उनको लाखों की कमाई होगी। बहुत जल्द बारिश भी आने वाली है और लोग बीमार भी बड़ी तादात में होते है अगर सर्वानंद हॉस्पिटल में उन लोगों का इलाज नहीं होगा तो वो लोग कहाँ जाएंगे इसलिए हमारी और तमाम उल्हासनगर वासीयों की अपील है की महानगरपालिका इस ओर ध्यान दे और गरीबों को परेशानियों से निजात दिलाए। सर्वानंद अस्पताल को कोविड अस्पताल बनाने में कुछ डाॅक्टरों और नगरसेवकों का निजी स्वार्थ जुड़ा हुआ है। जबकि शहर में मनपा का टाऊन हाॅल मौजूद है उसे कोविड सेंटर में तब्दील किया जा सकता है।

* अंबरनाथ में क्वारनटाईन में रखे गए लोगों को भोजन नहीं
* दै. उल्हास विकास द्वारा आवाज उठाने पर परोसा गया भोजन
* क्वारनटाईन सेंटर में रखे गए मरीजों का हाल बेहाल
अंबरनाथ। युसूफ शेख
   अंबरनाथ के ओरचीड इमारत में क्वारनटाईन करके रखे गए लोगों को आज मंगलवार को दोपहर का भोजन 2.30 बजे तक नहीं मिला जिसके कारण यहां रखे गए बच्चों का भूख के मारे बुरा हाल हो गया और वह रोने लगे। इस संवाददाता को एवं टीओके अध्यक्ष अजहर कुरैशी को यहां क्वारनटाईन किए गए लोगों के फोन आने पर इस संवाददाता ने तुरंत मुख्याधिकारी श्रीधर पाटणकर एवं विधायक किणीकर को इस बात की खबर की तो तुरंत पौने तीन बजे यहां भोजन दिया गया। ये खबर दिल दुखाने वाली है कि जिन लोगों को नपा प्रशासन क्वारनटाईन करके लाती है उन को सही समय पर भोजन तक नहीं दिया जाता। ये बड़े ही शर्म की बात है। अंबरनाथ नगरपरिषद की लापरवाही का ये कितना बड़ा सबूत है, जबकि क्वारनटाईन किए हुए लोगों को दोपहर एक बजे तक भोजन मिल जाना चाहिए था। मंगलवार को सुबह 8.30 बजे उन्होंने नाश्ता दिया गया था। उसके बाद से यहां पर बच्चे, महिलाएं वृद्ध दोपहर पौने तीन बजे तक भूख से तडपते रहे। ईद के दिन एक 22 वर्षीय युवक की कोरोना से मौत हो गई थी। उनके घर वाले एवं दोस्त कुल मिलाकर 19 लोग कल से यहां पर क्वारनटाईन किए गए हैं। उनका कहना है कि उनका चेकअप तक नहीं किया गया है ना ही उनका 24 घंटे बाद तक स्वेब कलेक्शन किया गया है। कोई डाॅक्टर, नर्स उन तक नहीं पहुंचे हैं। ये नपा प्रशासन की कैसी लापरवाही है जो हमारी समझ से बाहर है। विधायक किणीकर ने इसे एक संगीन मामला करार दिया है जबकि मुख्याधिकारी ने भी इसे गंभीर बताया है।
   उल्हासनगर के भी क्वारनटाईन लोगों का हाल बेहाल हो गया है इस गर्मी के कारण कई लोग सुविधा से वंचित है। उनको भी समय पर खाना नहीं मिलने और डाॅक्टरों व नर्सों के ध्यान नहीं देने की बात सामने आ रही है। मनपा प्रशासन को इस ओर ध्यान देने की आवश्यकता है।

अंबरनाथ। अंबरनाथ नगरपालिका क्षेत्र में आज 4 कोरोना बाधित मिले हैं जिससे शहर में कोरोना मरीजों की संख्या 66 हो गई है। 26 मरीज अब तक कोरोना मुक्त हो चुके हैं। अब तक दो लोगों की मौत हुई है। जबकि 38 मरीजों का ईलाज सरकारी अस्पतालों में चल रहा है। 43 स्वेब कलेक्शन लिए गए जिसमें 39 की रिपोर्ट नेगेटिव आयी है जबकि 4 पाॅजिटीव आए हैं। शहर में 20 कंटेन्मेंट झोन हैं।
बदलापुर। कुलगांव बदलापुर नपा क्षेत्र में सोमवार को 13 नए मरीज मिलने से यहां कोरोना ग्रस्त मरीजों की संख्या 174 हो गई है जबकि 59 मरीज कोरोना मुक्त हो चुके हैं। यहां 7 लोगों की मौत कोरोना से हुई है। 108 एक्टिव मरीजों का ईलाज बदलापुर सहित ठाणे, मुंबई, उल्हासनगर आदि क्षेत्र के अस्पतालों में चल रहा है। यहां 53 कंटेनमेंट झोन हैं।
कल्याण। कल्याण डोम्बिवली महानगरपालिका अंतर्गत सोमवार को भी 38 कोरोना संक्रमित मरीज पाये गए है इसी के साथ शहर में पीड़ितों की कुल संख्या 811 तक जा पहुची है इनमें 510 मरीजों का उपचार चल रहा है तो वही 272 लोग डिस्चार्ज हो चुके है वही मृतकों की संख्या में भी इजाफा होकर 22 तक जा पहुची है । शहर में दिन प्रतिदिन मरीजो की संख्या बढ़ती जा रही है आज कुल 38 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाये गए है जिनमें मांडा टिटवाला पूर्व व पश्चिम में 7 पुरुष व 5 महिला, अंबिवली में 4 पुरुष व 1 महिला, डोम्बिवली पश्चिम में 5 पुरुष व 2 महिला, डोम्बिवली पूर्व मे 2 पुरुष व 5 महिला, कल्याण पश्चिम में 1 पुरुष व 2 महिला, कल्याण पूर्व में 4 पुरुष (2की मौत) कोरोना संक्रमित पाये गए है । इस नए आंकड़े के बाद अब तक कल्याण पूर्व में 236, कल्याण पश्चिम में 149, डोंबिवली पूर्व में 176, डोंबिवली पश्चिम में 180, मांडा टिटवाळा में 47, अंबिवाली में 14, शहद में 1 तथा मोहने में 8 मरीज कोरोना से संक्रमित पाये जा चुके है ।

* सोमवार को 18 नए मरीज, 3 की मौत
* शहर में 129 एक्टिव कोरोना मरीज, 71 कोरोना मुक्त
* तीन निजी स्कूलों को कोविड केयर सेंटर में तब्दील करेंगे- आरोग्य अधिकारी
* अब तक दो कोरोना ग्रस्त मरीजों की मौत, जबकि 7 लोगों की मौत उपरांत रिपोर्ट पाॅजिटीव
  उल्हासनगर। उल्हासनगर शहर में कोरोना के कहर ने 209 लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है जिसमें 9 लोगों की मौत हुई है जबकि 71 मरीज कोरोना मुक्त हो चुके हैं। 129 एक्टिव मरीजों का ईलाज अस्पताल में चल रहा है। दो कोरोना मरीजों की मौत कोविड19 के ईलाज के दौरान हुई है जबकि सात लोगों की पाॅजिटीव जांच रिपोर्ट मृत्यु के बाद आयी है। ऐसा उल्हासनगर महानगरपालिका के आरोग्य अधिकारी डाॅ. मोहनालकर ने पत्रकारों को बताया।
  उल्हासनगर में रविवार को कोरोना ग्रस्त मरीजों की संख्या 191 थी, सोमवार को 18 नए मरीजों के मिलने के बाद यह संख्या बढ़कर 209 हो गई है। जबकि तीन लोगों की मौत भी हुई है। उल्हासनगर-3 के हाॅटस्पाट इलाके ओटी सेक्शन के सम्राट अशोक नगर से 5 और भी कोरोना पाॅजिटीव पाए गए हैं जिसमें से 36 वर्षीय पुरुष, 7,10 व 11 वर्षीय बच्चा व 35 वर्षीय महिला का समावेश है। चोपड़ा परिसर के ब्राह्मणपाड़ा से दो कोरोना मरीज मिले हैं जिसमें 52 व 22 वर्षीय पुरुष का समावेश है। उल्हासनगर-3 के वाघरी पाडा, सेक्शन 22 से एक 38 वर्षीय व्यक्ति कोरोना बाधित मिला है। उल्हासनगर-3 के आंबेडकर नगर से 2 मरीज मिले जिसमें 51 वर्षीय पुरुष व 13 वर्षीय बच्ची का समावेश है। उल्हासनगर-3 आनंद नगर से एक 40 वर्षीय महिला कोरोना रोगी मिली है। श्री चक्रधर निवास आनंदवाडी से एक 35 वर्षीय पुरुष कोरोना बाधित है। उल्हासनगर-1 पुलिस स्टेशन के समीप भारत चौक के पास कौशल पैलस से एक 43 वर्षीय महिला और 22 वर्षीय पुरुष कोरोना बाधित मिला है। उल्हासनगर-4 के सुभाष टेकड़ी इलाके से एक 34 वर्षीय पुरुष कोरोना संक्रमित पाया गया है।
   उल्हासनगर शहर में सोमवार को 3 कोरोना ग्रस्त लोगों की मौत हुई है। उल्हासनगर-3 सी ब्लाॅक परिसर से एक 61 वर्षीय पुरुष की कोरोना से मौत हुई है वहीं कैम्प 3 के आंबेडकर नगर परिसर से 60 वर्षीय महिला की भी कोरोना से मौत हुई है इसके अलावा कई दिनों पूर्व ईलाज के दौरान हिरा घाट परिसर निवासी 35 वर्षीय युवक की मौत हुई थी। मौत के बाद जब उसका स्वैब लिया गया तो वो कोरोना पाॅजिटीव पाया गया है। मनपा के आरोग्य अधिकारी डाॅ. सुहास ने बताया है कि शहर में कोरोना से अब तक 9 लोगों की मौत हुई है जिसमें से 2 लोगों की मौत कोरोना के ईलाज के दौरान हुई है जबकि 7 लोगों की मौत उपरांत रिपोर्ट पाॅजिटीव आयी है। कोविड अस्पताल में 51, कामगार अस्पताल में 72, ठाणे में 2, कल्याण में 2, भिवंडी में 1 और कामा अस्पताल मुंबई में 1 कोरोना मरीज का ईलाज चल रहा है। 129 एक्टिव मरीजों में से 106 मरीजों में कोरोना के हल्के लक्षण हैं जबकि 19 मरीजों में थोड़े ज्यादा हैं वहीं चार मरीज आक्सीजन व वेंटिलेटर पर हैं।
   
  डाॅ. मोहनालकर ने पत्रकारों को बताया कि शहर में बढ़ते मरीजों की संख्या से हमने कैम्प 4 के कोविड अस्पताल के 55 बेडों को बढ़ाकर 75 कर दिया है वहीं कामगार अस्पताल में भी बेडों की संख्या 75 कर दी है। कोरोना के मरीजों हेतु शहर के तीन निजी स्कूलों को कोविड केयर सेंटर के अंतर्गत कोरोना ग्रस्त मरीजों का ईलाज करेंगे। जिससे शहर में ही करीब 300 कोरोना ग्रस्त मरीजों का ईलाज हो सके। उन्होंने शहर के नागरिकों से अपील की है कि घर पर ही रहें सामाजिक दूरी का पालन करें वो ही एकमात्र तरीका है इस रोग पर काबू पाने का। उन्होंने नगरसेवकों का आभार भी प्रकट किया है जो अपने क्षेत्र के लोगों को समझा रहे हैं। उल्हासनगर-2 खेमानी परिसर से एक कोरोना मुक्त मरीज का स्वागत भाजपा नगरसेवक महेश सुखरामानी व परिसर के लोगों ने फूल बरसाकर किया।

* उल्हासनगर शहर में कोरोना मरीज 200 के करीब
* परिमंडल-4 में कोरोना के मामले 400 पार
* दुकानदारों को साफ सफाई व देखरेख की अनुमति मिले-व्यापारी
उल्हासनगर। हीरो बोधा
  उल्हासनगर पुलिस उपायुक्त परिमंडल 4 में कोरोना पैर पसारे हुए है इस क्षेत्र में आने वाले उल्हासनगर, अंबरनाथ व बदलापुर में कोरोना के करीब 400 से अधिक मामले हैं। जिसमें कई पुलिसकर्मीयों का भी समावेश है। पिछले दो माह से पुलिस कर्मी अपनी ड्यूटी करके पूरी तरह थक गए हैं। इसका पूरा फायदा उठाते हुए इस क्षेत्र में चोरों ने सेंधमारी शुरू कर दी है। लाॅकडाऊन के दौरान परिमंडल-4 में चोरियों की वारदातों में बढ़ोत्तरी हो रही है लेकिन दुकानदार को इसकी खबर देरी से मिल रही है क्योंकि लोग दुकानों में जाने से वंचित हैं। सोमवार को सुबह को उल्हासनगर-3 के विट्ठलवाड़ी रेलवे स्टेशन के सामने तीन दुकानों जिसमें मयूर स्टोर्स, मां शेरावाली स्टोर्स, हरि विट्ठल स्टोर के शटर तोड़कर चोरी की घटना सामने आयी है। पुलिस में इसकी शिकायत लिखी जा रही है। उल्हासनगर-4 के मुख्य नेताजी चौक पर एक ड्राय फ्रूट मालिक को किसी चोर ने बहला फूसलकर लाखों का सोना लेकर चंपत हुआ। कुछ दिनों पूर्व एक मेडिकल स्टोर में चोरी हुई और चोर सीसीटीवी में कैद भी हुए। चोरी की इन बढ़ती वारदातों से दुकानदारों में चिंता का माहौल है उनका कहना है कि दो माह से हमने अपने दुकान नहीं देखे हैं साफ सफाई न होने के कारण अब बचा कुचा माल भी चोर ले जाएंगे तो हम पर यह दोहरी मार होगी। दुकानदारों ने नियमानुसार दुकानें खोलने की मांग की है और कहा है कि साफ सफाई व देखरेख की उन्हें अनुमति मिले। ज्ञात हो कि उल्हासनगर शहर में कोरोना के 200 के करीब मामले हो गए हैं। कभी भी यह आकड़ा 200 पार हो जाएगा।
   वहीं उल्हासनगर परिमंडल 4 में चोरियों के साथ-साथ मारपीट, हत्या के प्रयास, लूटपाट आदि के मामलों में भारी वृद्धि हुई है। शुक्रवार देर रात सेंट्रल पुलिस क्षेत्र में 4 गुंडों ने मामूली बात को लेकर राहुल शाह नामक युवक का दायां कान काट दिया और सिर पर चाॅपर से वार कर राजेश मुदलियार नामक युवक की बुरी तरह पिटाई की।कुछ दिनों पूर्व फाॅलवर लाईन क्षेत्र में दो गुटों के बीच मारपीट के चलते आरोपी पर 307 के तहत  मामला दर्ज किया गया। अंबरनाथ व बदलापुर के पुलिस थाने में भी पिछले कुछ दिनों से इस तरह के अपराध दर्ज हो रहे हैं।

Author Name

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.