"उल्हास विकास" ठाणे जिले का पहला हिन्दी न्यूज एंड्रॉयड मोबाइल ऐप बना
Click on the Image to Download the App from Google Play Store

andriod app

उल्हासनगर में जन्माष्टमी पर सत्संग करने वाले आश्रम पर अपराध दर्ज, केडीएमसी की सफाई कर्मियों के प्रति उदासीनता से कर्मचारी नाराज

महिलाओं पर हिललाईन में दर्ज हुआ मामला
उल्हासनगर। हिललाईन पुलिस थाने क्षेत्र में कोरोना महामारी के दौरान धार्मिक कार्यक्रम पर पाबंदी के नियमों का उल्लंघन करते हुए उल्हासनगर-5 के एक आश्रम में जन्माष्टमी पर्व पर 50 से 100 महिलाएं व पुरुष ने सतसंग के कार्यक्रम में शामिल होकर नियमों का उल्लंघन किया और इतना ही नहीं इस जन्माष्टमी कार्यक्रम के दौरान ना तो मास्क पहना गया था और ना ही सामाजिक दूरी का ख्याल रखा गया था जिस कारण आयोजकों पर हिललाईन पुलिस में भा.द.वि.क. 188 के तहत अपराध दाखिल किया गया है।
हिललाईन पुलिस के कर्मचारी प्रदीप पंडीत लोढे की शिकायत में यह बताया गया है कि बुधवार 12 अगस्त की सुबह 10.30 बजे उल्हासनगर-5 के सेक्शन 35 बैंक आफ इंडिया के पास ईश्वर प्रेम आश्रम में जन्माष्टमी के अवसर पर सत्संग कार्यक्रम का आयोजन किया गया था जिसमें 50 से 100 महिलाएं व पुरुष शामिल थे। यह सभी बिना मास्क व सामाजिक दूरी का ख्याल ना रखते हुए नियमों का उल्लंघन करते हुए पाए गए। ऐसे में आयोजकों जिसमें संगीता कारमोमल कारेरा व अशोक परमानंद धसेजा सहित 9 लोगों पर भा.द.वि.क. 188 सह राष्ट्रीय आपत्ती 2005 के कलम 51(ब), कोविड 19 उपाय योजना 2020 के अधिनियम 11 का उल्लंघन के आरोप में अपराध दर्ज किया गया है। शहर में अभी भी कोरोना खत्म नहीं हुआ है इसलिए शासन द्वारा तय किए गए नियमों का उल्लंघन करने वालों पर अपराध दर्ज होगा। 

केडीएमसी को मुंबई व नवी मुंबई महानगरपालिका 
की तरह कर्मचारियों को मिले सुविधा
कल्याण। मुंबई व नवी मुंबई महानगर पालिका की तरह ही सफाई कर्मचारियों को कोरोना सुरक्षा के उपकरण व विविध सुविधा उपलब्ध कराने की मांग को लेकर महानगर सफाई कर्मचारी संघ ने आयुक्त को निवेदन पत्र देते हुए कहा कि यदि उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वह आगामी 2 सितंबर से काम बंद आंदोलन का रास्ता अपनाने को मजबूर हो जाएंगे ।
मांगे पूरी नहीं हुई तो 2 सितंबर से करेंगे काम बंद आंदोलन
गौरतलब हो कि कोरोना जैसी महामारी में अपनी जान हथेली पर रखकर शहर में सफाई के प्रति जागरूक रहने वाले सफाई कर्मचारियों के लिए नवी मुंबई महानगरपालिका वह मुंबई महानगर पालिका ने विविध व्यवस्था कर रखी है ताकि कोई भी कर्मचारी इस मुश्किल की घड़ी में किसी भी तरह से खुद को असुरक्षित महसूस ना कर सके परंतु वही कल्याण डोंबिवली महानगरपालिका के अंतर्गत काम करने वाले सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा और उनके परिवार की सुरक्षा के लिए कोई भी ठोस कदम मनपा द्वारा नही उठाया गया है  यही नहीं गिला व सूखा कचरा अलग करने वाले कर्मचारियों को महीने में मनपा की तरफ से सिर्फ एक बाटली सैनिटाइजर, मास्क और हैंड ग्लव्स दिया जाता है जो कि पर्याप्त नही होते है और इससे उन पर कोरोना का संकट मंडराता रहता है यदि ऐसे में वे कोरोना की चपेट में आ गए तो उनके लिए मेडिक्लेम की भी सुविधा नही दी गयी है  सफाई कर्मचारियों की इन सब समस्याओं को ध्यान में रखते हुए महानगर सफाई कर्मचारी संघ ने आयुक्त डॉ.विजय सूर्यवंशी को निवेदन पत्र दे मांग किया कि कर्मचारियों को प्रतिदिन 300 रुपये विशेष भत्ता, कर्मचारी व उसके परिवार के 3 व्यक्ति को 5लाख का मेडिक्लेम पॉलिसी, महीने में चार बार सैनिटाइजर, दो दिन पर मास्क एवम हैंड ग्लब्स उत्तम दर्जे का दिया जाय जिससे वे बेझिझक अपने काम को बखूबी से अंजाम देते जाए वही महाराष्ट्र राज्य अध्यक्ष भारत गायकवाड़ ने घनकचरा व्यवस्थापक विभाग उपायुक्त रामदास कोकरे को निवेदन पत्र देकर कहा कि अगर उनकी मांगों को मनपा द्वारा दरकिनार किया गया तो उनको मजबूरन काम बंद आंदोलन का रास्ता अपनाना होगा और आगामी 2 सितम्बर से सफाई कर्मचारी हड़ताल करने से पीछे नही हटेंगे हालांकि उनकी मांगों पर विचार कर उचित मार्ग निकालने का आश्वासन आयुक्त डॉ.विजय सूर्यवंशी ने दिया है ।
[blogger]

Author Name

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.