"उल्हास विकास" ठाणे जिले का पहला हिन्दी न्यूज एंड्रॉयड मोबाइल ऐप बना
Click on the Image to Download the App from Google Play Store

andriod app

क्या दिसंबर-जनवरी तक आ जाएगी कोरोना वैक्सीन?, उल्हासनगर में नए मरीज 23 एक्टिव 317, अंबरनाथ में नए मरीज 16, एक्टिव 135

🔺 उल्हासनगर में नए मरीज 23एक्टिव मरीज 317

कोरोना मुक्त 9869, मृत्यु 350, कुल संख्या 10,536

🔺 अंबरनाथ में नए मरीज 16, एक्टिव मरीज 135
कोरोना मुक्त 7223मृत्यु 284, कुल संख्या 7642

🔺 बदलापुर में नए मरीज 17एक्टिव मरीज 101
कोरोना मुक्त 7520, मृत्यु 98, कुल संख्या 7719

🔺कल्याण-डोंबिवली में नए मरीज 133, एक्टिव 1081
कोरोना मुक्त 49,944, मृत्यु 1031, कुल संख्या 52,056

कोरोना वैक्सीन पर दवा कंपनियों के बड़े-बड़े दावे

मुंबई। कोरोना वायरस से परेशान पूरी दुनिया को अब इस महामारी पर लगाम लगाने वाले एक सफल टीके का बेसब्री से इंतजार है। ऐसे में टीका तैयार करने के अंतिम चरण में पहुंच चुकी कई नामी कंपनियां अपनी दवा 90 से 95 फीसदी तक असरदार होने का दावा कर रही हैं। हालांकि अभी तक ऐसी कोई स्वतंत्र रिसर्च सामने नहीं आई है जिसमें यह कहा गया हो कि कोरोना की वैक्सीन 50 फीसदी से ज्यादा कारगर होगी। विश्व स्वास्थ्य संगठन भी कह चुका है कि केवल टीके के भरोसे हम कोरोना से जंग नहीं लड़ सकते। कंपनियों के दावे धरातल पर कितने सही साबित होंगे, ये तो वक्त ही बताएगा मगर दावों की बदौलत इनके शेयर रातोंरात चढ़ गए। कोरोना की वैक्सीन का दावा करने के बाद फाइजर का शेयर एक साल के उच्च स्तर पर पहुंच गया। वहीं, हेस्टर बायोसाइंसेज के शेयर तीस दिन में 35 फीसदी चढ़ चुके हैं। 

वैक्सीन पर कंपनियों के दावे

फाइजर-बायो एनटेक
- कोवि-19 के लिए बन रही पहली वैक्सीन के बारे में दावा है कि यह 90 फीसदी तक कारगर है
- ये वैक्सीन दुनिया की बड़ी दवा कंपनी फाइजर और बायो एनटेक ने मिलकर तैयार की है
- इसका तीसरे चरण का ट्रायल यूरोप और उत्तरी अमेरिका के विभिन्न शहरों में हो चुका है
- कंपनियां जल्द ही वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की अनुमति के लिए आवेदन करेंगी
- कंपनी का दावा है कि वह ब्रिटेन के बाजार में क्रिसमस से पहले अपनी वैक्सीन उतार देगी

मॉडर्ना 
- अमेरिकी कंपनी के वैक्सीन ट्रायल के नतीजों के अनुसार, यह 94.5 फीसदी तक कामयाब है 
- इसका तीसरे चरण का ट्रायल वॉशिंगटन हेल्थ रिसर्च इंस्टीट्यूट में 30 हजार लोगों पर किया गया 
- इनमें से आधे लोगों को चार सप्ताह के अंतर पर दो खुराक दी गई। बाकी को डमी इंजेक्शन दिए 
- कंपनी इस साल के अंत तक अमेरिका समेत दुनिया के बाजारों में सौ करोड़ खुराक उपलब्ध कराएगी 

स्पूतनिक-5
- रूस द्वारा तैयार किए जा रहे 'स्पूतनिक-5' नामक टीका परीक्षण में 92 प्रतिशत तक प्रभावी पाया गया 
- टीके के तीसरे चरण के परीक्षण में 40 हजार से अधिक वॉलंटियर्स पर अध्ययन किया गया 
- रूस की सरकार ने इस स्पुतनिक-पांच को दुनिया की पहली कोविड-19 वैक्सीन बताया था
- भारत में इसके वितरण के लिए डॉ रेड्डीज और रूस के गेमलया इंस्टीट्यूट ने समझौता किया है 

सिनोवैक बायोटेक
- चीन की प्राइवेट फार्मा कंपनी सिनोवैक बॉयोटेक की वैक्सीन आख़िरी चरण में पहुंच चुकी है
- सरकारी मंजूरी से पहले किसी वैक्सीन को इंसानों पर परीक्षण में खरा उतरना होता है
- कोरोना वैक नाम की इस वैक्सीन का फिलहाल ब्राजील में नौ हजार वॉलिंटियर्स पर ट्रायल हो रहा है 
- एक ट्रायल वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल प्रॉडक्टस में सिनोफार्म कंपनी के साथ भी जारी है 

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी- एस्ट्राजेनका 
- यह वैक्सीन ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी, दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया मिलकर बना रही हैं
- इसका भी फेज-3 का ट्रायल ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और द जेनर इंस्टीट्यूट में पूरा कर लिया गया है 
- इंसानी परीक्षण के लिए कपंनी की ओर से अमेरिका और भारत को चुना गया था
- भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा समेत कई देशों में इसे बाजार में लाने की अनुमति का इंतजार है 
- सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता फर्म सीरम इंस्टिट्यूट का दावा है कि भारत को दिसंबर तक 10 करोड़ डोज मिलेंगी  
वैक्सीन को लेकर संशय भी 
बाजार में वैक्सीन आने के बाद भी इसकी सफलता को लेकर संशय बना हुआ है। अंतरराष्ट्रीय एजेंसी क्रेडिट सुईस की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय कंपनियां देश की जरूरत के लायक वैक्सीन डोज बनाने में सक्षम हैं। लेकिन, इन्फ्रास्ट्रक्चर की कमी के कारण वैक्सीन आने के बाद एक साल में टीकाकरण अभियान एक तिहाई ही हो पाएगा। रिपोर्ट के मुताबिक देश की अधिकतर आबादी को टीका लगाने के लिए भारत को 170 करोड़ डोज की जरूरत होगी। भारतीय कंपनियां 240 करोड़ डोज बना सकती हैं।

-रॉयल सोसायटी के शोधकर्ताओं ने चेताया है कि हमें तार्किक और व्यावहारिक होने की ज़रूरत है। टीका असल में कितना कारगर होगा यह उसके बाजार में आने के बाद ही पता लगेगा। इंपीरियल कॉलेज लंदन के वैज्ञानिकों ने टीके की सफलता को लेकर सवाल उठाए। उन्होंने कहा, कई बार टीका आने के बावजूद हमें विफलता हाथ लगती है। 

वैक्सीन से नहीं रुकेगा कोरोना : डब्यूएचओ 
डब्ल्यूएचओ ने आशंका जताई है कि वैक्सीन आने के बाद भी वो इस महामारी को अपने आप रोकने में कामयाब नहीं हो सकेगी। संगठन प्रमुख टेड्रोस अधानोम घेब्रियेसिस के अनुसार, वैक्सीन आने के बाद वो हमारे पास मौजूद अन्य माध्यमों को मजबूत तो करेगी लेकिन उन्हें बदल नहीं सकती। ट्रेडोस ने कहा कि एक वैक्सीन सिर्फ अपने दम पर महामारी को रोक नहीं सकती।

कंपनियों के शेयर के दाम उछले 
दवा कंपनियों के वैक्सीन लगभग तैयार कर लेने की घोषणा का असर इनके शेयरों के दाम पर दिखा है। कोरोना की वैक्सीन का दावा करने के बाद फाइजर का शेयर 19 फीसदी से ज्यादा उछला था। यह एक साल के उच्च स्तर पर पहुंच गया। यह शेयर मार्च से अब तक 63 फीसदी बढ़ गया है। वहीं, हेस्टर बायोसाइंसेज के शेयरों में 20 फीसदी का अपर सर्किट लगाना पड़ा।अहमदाबाद की इस दवा कंपनी के शेयर एक माह में 35 फीसदी चढ़ चुके हैं। 

उल्हासनगर में आज 29 हुए डिस्चार्ज
उल्हासनगर। उल्हासनगर महानगरपालिका क्षेत्र में आज केवल 23 नए पाॅजिटीव मरीज मिलने से कोरोना ग्रस्त मरीजों की कुल संख्या अब 10,536 हो गई है। मृतकों की संख्या 350 हो गई है। आज 29 मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं जिससे कोरोना मुक्त मरीजों की संख्या अब 9869 हो गई है। रिकवरी प्रतिशत 93.67 बताया गया है। वहीं 317 एक्टिव मरीजों का ईलाज शहर के बाहर के अस्पतालों में 120, होम आयसोलेशन में 112 व अन्य मरीजों का ईलाज निजी व सरकारी अस्पतालों में चल रहा है। 
अंबरनाथ में अब तक 7223 कोरोना मुक्त
अंबरनाथ। अंबरनाथ नपा क्षेत्र में आज 16 नए कोरोना रोगी मिले हैं। जिससे कोरोना ग्रस्त मरीजों की कुल संख्या 7642 हो गई है। आज शहर पूर्व में 13 और पश्चिम में 3 रोगी मिले हैं। 94.51 प्रतिशत के साथ आज तक 7223 मरीज स्वस्थ होकर घर गए हैं। 1.76 प्रतिशत के साथ एक्टिव रोगी अब 135 हैं। 3.71 प्रतिशत के साथ मृतकों की कुल संख्या 284 हो गई है। अंनपा संचालित डेंटल कोविड अस्पताल में 20 मरीज अपना उपचार करा रहे हैं। शहर में कोविड 19 टेस्ट करने वालों की संख्या 31,017 पहुंच गई है। आज 104 लोगों ने टेस्ट कराया है जिसमें 88 नेगेटिव और 16 पाॅजिटीव हैं। 
बदलापुर में आज 17 नए पाॅजिटीव
बदलापुर। कुलगांव-बदलापुर नगरपरिषद क्षेत्र में आज 17 नए पाॅजिटीव मरीज मिले हैं जिससे कोरोना ग्रस्त मरीजों की कुल संख्या अब 7719 हो गई है। यहां पर मृतकों का 1.26 प्रतिशत के साथ मरने वालों की संख्या 98 ही है। यहां पर 97.42 प्रतिशत मरीज ठीक हुए हैं 7520 मरीज कोरोना मुक्त अब तक हो चुके हैं। 1.30 प्रतिशत के साथ एक्टिव मरीजों की कुल संख्या अब 101 है। जिनका ईलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। अब तक 12,084 लोगों का स्वेब टेस्ट हुआ है। आज कोरोना की रिपोर्ट में 18 नेगेटिव और 17 पाॅजिटीव पाए गए हैं। यह जानकारी हमें श्री सुनील मकाजी ने दी है।
कल्याण-डोंबिवली क्षेत्र में आज मिले 133 पाॅजिटीव
कल्याण। कल्याण डोम्बिवली महानगरपालिका में आज कुल 133 कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि की गई जिसके साथ ही कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 52,056 तक जा पहुची है इनमें 1081 मरीजों का उपचार चल रहा है तो वहीं 49,944 मरीज डिस्चार्ज हो चुके है, आज 1 मरीज की मौत के बाद मरने वालों की संख्या 1031 तक पहुंच गई है। 155 मरीज पिछले 24 घंटे के भीतर विभिन्न अस्पतालों से डिसचार्ज भी हुए है। मनपा क्षेत्र के कल्याण पूर्व में 22, कल्याण पश्चिम में 37, डोंबिवली पूर्व में 34, डोंबिवली पश्चिम में 32, मांडा टिटवाला में 6, पिसवली में 0 तथा मोहना में 2 नए मरीज कोरोना संक्रमित पाये गये है।
Download Ulhasnagar Municipal 
[blogger]

Author Name

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.