January 2016

मुंबई: मुंबई से सटी उल्हासनगर महानगर पालिका में मंगलवार को एक महिला नेता ने पहले सहायक आयुक्त का कलर पकड़ कर तमाचा जड़ा फिर जमकर हंगामा किया। महिला नेता प्रिया गुप्ता का आरोप है कि सहायक आयुक्त युवराज बदाने ने उनके जेठ के तबादले के लिए रिश्वत मांगी थी।
पुलिस ने मामला दर्ज किया
घटना के बाद मनपा कर्मियों ने काम बंद का ऐलान कर दिया जबकि पुलिस, महिला और सहायक आयुक्त दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर छानबीन कर रही है। दरअसल, प्रिया का जेठ उल्हास नगर महापालिका में सुरक्षा रक्षक है। उसने सिपाही बनने के लिए आवेदन किया था प्रिया आर्डर लेने गई थी। उसका आरोप है कि उनके जेठ के प्रमोशन के लिए सहायक आयुक्त  ने उनसे पैसे मांगे, यही नहीं, जब वह इस संबंध में मिलने गईं तो बदाने ने बदसलूकी की।
मनपा परिसर में भी किया हंगामा
हालांकि सीसीटीवी में कैद तस्वीर कुछ और ही कहानी बयां कर रही है। वीडियो में साफ दिख रहा है कि किस तरह प्रिया इस अधिकारी के साथ गर्मजोशी दिखा रही है और थोड़े देर बाद अधिकारी के कपडे पकड़कर उसे थप्पड़ जड़ रही है। यदि पास खड़े सुरक्षा रक्षक अधिकारी को बचाने के लिए नही दौड़ते तो बदाने शायद और पिटते। प्रिया ने अधिकारी को पीटने के बाद मनपा परिसर में भी जमकर हंगामा करते हुए गालियों की बौछार कर डाली।



भिवंडी महपौर द्वारा आयोजित भव्य यशवंत पांडुरंग चौधरी स्वर्ण चषक कबड्डी स्पर्धा में पिछले दो दिनों से उमड़ रहा जन समूह ठाकरा पाड़ा क्रीडांगड़ में चार चाँद लगा रहा है। आयोजक महापौर तुषार चौधरी की लोगो ने जम कर सराहना की और कहा की आज क्रिकेट के सामने जहाँ कबड्डी जैसे खेल को सभी भूल रहे है। ऐसे इतने बड़े पैमाने पर इस कबड्डी स्पर्धा का आयोजन कर कबड्डी प्रेमी का दिल जीत लिया। कबड्डी के इसी मैदान में महापौर ने आश्रम शाला के बच्चियों को बुलाकर उन्हें हर दिन उपयोगी सामग्री भेट दिया। इस कबड्डी स्पर्धा में आज जितना उत्साह है ,उतना ही लोग समाज सेवा भी कर रहे है। इसके अलावा जो महिला मंडल अच्छा कार्य कर रही है उन्हें बुलाकर सम्मान कर उनका भी मनो बल बढ़ा रही है। ८ तारीख से सुरु और १२ तारीख को ख़त्म होने वाली इस कबड्डी स्पर्धा को आज पुरे शहर से बधाई मिल रही है।

मुंबई। अंधेरी इलाके में शनिवार रात एक तेज रफ्तार कार ने छह लोगों को कुचल दिया। सूत्रों के अनुसार गाड़ी एक 74 साल का बुजुर्ग चला रहा था, जो कि हादसे के बाद मौके से फरार हो गया। वहीं घायलों की हालत काफी नाजुक बताई जा रही है। उन्हें एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कार काफी तेज रफ्तार में थी। इसके बाद ड्राइवर कार पर काबू नहीं रख पाया और कार ने एक ही परिवार के चार लोगों को टक्टर मार दी और फुटपाथ पर चढ़ गई। कार ने फुटपाथ पर सो रहे दो लोगों को भी कुचल दिया। वहीं कई वाहनों को टक्कर मारने के बाद डिवाइडर से टकरा गई। हादसे के बाद लोगों की भीड़ लग गई, वहीं पुलिस के आने से पहले ही आरोपी ड्राइवर श्रीचंद्रा गिरधारी लाल वहां से भाग निकला। पुलिस ने बताया कि अभी हादसे की वजह साफ नहीं है, केस दर्ज कर आरोपी की तलाश की जा रही है।

मेक्सिको की पुलिस कुख्यात ड्रग्स तस्कर सरगना जोआकिन 'अल चेपो' गुजमान के साथ अमेरिकी अभिनेता शॉन पेन की मुलाकात की जांच कर रही है। इन दोनों की मुलाकात उस समय हुई थी, जब गुजमान फरार था। हालांकि, अब गुजमान पुलिस की गिरफ्त में है।
मैक्सिको के राष्ट्रपति एनरीक पेना नीतो के मुताबिक, जोओकीन 'अल चेपा' गुजमेन को जेल से भागने के छह महीने बाद पकड़ लिया गया। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'मिशन पूरा हो गया। हमने उसे पकड़ लिया। मैक्सिको वासियों को बताना चाहता हूं कि गुजमेन को गिरफ्तार कर लिया गया है।'
'रॉलिंग स्टोन' पत्रिका में शनिवार को प्रकाशित पेन के लेख के मुताबिक, जुलाई में गुजमान के जेल से फरार होने के बाद अक्टूबर में उन्होंने गुजमान का साक्षात्कार लिया था। उस समय पुलिस को उसकी तलाश थी। इस संबंध में मेक्सिको अभिनेत्री केट डेल कैस्टिलो भी जांच के दायरे में हैं।
'ला जोर्नाडा' अखबार के मुताबिक, शेन पेन और केट डेल कैस्टिलो के खिलाफ मामले को छिपाने के लिए शुरुआती जांच शुरू कर दी गई है। दोनों कलाकारों को पता था कि गुजमान एक भगोड़ा है। पुलिस को उसकी तलाश है, लेकिन मेक्सिको प्रशासन को बताए बिना उन्होंने गुजमान से मुलाकात की।
बताते चलें कि मेक्सिको सिटी के ऐल्टीप्लानो जेल से डेढ़ किलोमीटर लंबी सुरंग के जरिए गुजमान भाग गया था। अमरीकी वित्त मंत्रालय उसे दुनिया का सबसे ताकतवर ड्रग तस्कर मानता है। उसकी संपत्ति एक अरब डॉलर से ज्यादा है। वह मशहूर गूजमान सिनलोआ समूह का प्रमुख रह चुका है।

सर्वोच्च न्यायालय ने सोमवार को कहा कि नाबालिगों के साथ रेप केस में सख्त से सख्त सजा देने के लिए संसद को कानून बनाने पर विचार करना चाहिए। दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली सर्वोच्च न्यायालय की खंडपीठ ने सर्वोच्च न्यायालय महिला वकील संघ द्वारा दायर याचिका की सुनवाई के दौरान यह बात कही। इसमें रेप करने वाले अपराधियों की नसबंदी कराने के प्रावधान की मांग की गई है।
खंडपीठ ने याचिकाकर्ता की वकील महालक्ष्मी पवानी को बताया कि आवेश और भावुकता के आधार पर अपराधियों को सख्त सजा देने के लिए कानून नहीं बनाए जा सकते। न्यायालय ने अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी के निवेदन का जिक्र किया, जिसमें कहा गया है कि कानून बनाने की शक्ति संसद के अधिकार क्षेत्र में है, यह काम न्यायालय नहीं कर सकता। वहीं, एक मामले अदालत ने पुरुषों की सुरक्षा की बात की।
रेप केस से एक वकील को आरोपमुक्त करते हुए दिल्ली की एक अदालत ने कहा कि अब समय आ गया है कि ऐसे झूठे मामलों के प्रभाव से पुरुषों को सुरक्षा देने के लिए कदम उठाया जाए। शिकायतकर्ता द्वारा शिकायत वापस ले लिए जाने के बाद अदालत ने बलात्कार के इस मामले में कहा कि यदि वकील चाहे तो क्षतिपूर्ति के लिए शिकायतकर्ता के खिलाफ केस दायर कर सकता है।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में व्हाट्सएप पर एक समुदाय विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक सामग्री शेयर कर दी गई। जिसके बाद व्हाट्सएप ग्रुप के एडमिन और उसके सदस्यों के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला दर्ज किया गया है।
मॉर्डन क्राइम का यह मामला जिले के कांधला शहर का है। जहां कुछ असामाजिक तत्वों नेव्हाट्सएप के एक ग्रुप में एक विशेष समुदाय के खिलाफ आपत्तिजनक सामग्री पोस्ट और शेयर कर दी। इस संबंध में सूचना मिलते ही पुलिस हरकत में आ गई।
पुलिस सर्किल अधिकारी एनपी सिंह ने बताया कि व्हाट्सएप ग्रुप के एक एडमिन और उसके सदस्यों के खिलाफ थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है। कांधला पुलिस ने असलम की शिकायत पर ग्रुप एडमिन बारम सैनी और सदस्य दीपक को नामजद किया है।
पुलिस अधिकारी एनपी सिंह ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 153 के तहत दो समुदायों के बीच धार्मिक आधार पर बैर को बढ़ाने और सांप्रदायिक एकता को खतरे में डालने का मुकदमा दर्ज किया गया है। उन पर जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को उकसाने के आरोप भी लगाए गए हैं।

एनआईए ऑफिस पहुंच गए हैं। शुक्रवार को एनआईए ने उन्हें पूछताछ के लिए समन जारी किया था। उनका लाई डिटेक्टर टेस्ट भी कराया जा सकता है। एसपी, उनके दोस्त राजेश वर्मा और उनके कुक मदनलाल के बयानों के बीच विरोधाभास को देखते हुए उनकी भूमिका शक के घेरे में हैं।
दूसरी तरफ शुक्रवार को पंजाब पुलिस ने सलविंदर सिंह की दूसरी शादी के आरोपों की जांच के आदेश दे दिए हैं। पुलिस महानिदेशक ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक धनप्रीत कौर को मामले की जांच सौंपी है। पंजाब के टांडा उरमुर की एक महिला करनप्रीत कौर ने दावा किया है कि अप्रैल, 1994 में उसकी सलविंदर सिंह से शादी हुई थी। उस समय वह अमृतसर में सहायक उपनिरीक्षक के पद पर तैनात थे।
एसपी सलविंदर सिंह ने बताया था वह खुद पीड़ित है, संदिग्ध नहीं। उनको गंभीर चोटें लगी हैं। वह किसी तरह मौत के मुंह से वापस आए हैं। पठानकोट के कोलिआं मोड़ पर उन लोगों ने गाड़ी रोकी थी। गाड़ी उनका दोस्त राजेश वर्मा चला रहा था। उसी समय अचानक आतंकी उनकी गाड़ी में घुस गए। उन्होंने अंदर की लाइट बंद करने के लिए कहा। उन्हें पीछे धकेल दिया। उनके हाथ सीट के पीछे बांध दिए। उन सभी को गन प्वाइंट पर ले रखा था।

राजधानी के अस्पतालों के आंकड़ों पर नजर डालें तो पिछले पांच वर्षों में सांस की बीमारियों से पीड़ित लोगों की संख्या 30 प्रतिशत तक बढ़ गई है। विशेषज्ञ मानते हैं कि आगामी 2030 तक यह संख्या 50 प्रतिशत से अधिक हो जाएगी। एक अन्य रिपोर्ट यह भी बताती है कि दुनिया के 30 सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में से 13 भारत में हैं और उनमें दिल्ली प्रमुखता से शामिल है।
दिल्ली में प्रदूषण की समस्या की गंभीरता को देखते हुए सरकारी स्तर पर तो प्रयास किए ही जा रहे हैं, आप अपने स्तर पर भी इससे अपना बचाव कर पाएं, इसके लिए बाजार में एयर प्यूरिफायर यानी प्रदूषित हवा को साफ करने की मशीन की बिक्री बढ़ चुकी है। अनेक नामचीन कंपनियां इस मशीन का निर्माण कर रही हैं।
यह मशीन कैसे काम करती है, इस बारे में एयर प्यूरिफायर बनाने वाली एक कंपनी के निदेशक पवन कुमार जैन बताते हैं, हवा को साफ करने के लिए इस मशीन में अनेक फिल्टर लगाए जाते हैं। इस मशीन में प्री फिल्टर, ईएसपी (इलेक्ट्रोस्टैटिक प्रेसिपिटेटर), उल्पा या हेपा या दोनों, मीडिया कैटेलिस्ट, एक्टिवेटेड कार्बन, अल्ट्रावॉयलेट रेज, पीसीओ (फोटो कैटेलिटिक ऑक्सीडेशन), आयोनाइजर आदि लगे होते हैं। ज्यादातर मशीनों में 4 से 7 फिल्टर होते हैं, जो आपको साफ और ताजी हवा उपलब्ध कराते हैं।
श्री जैन के अनुसार हवा में धूल कण ही नहीं, बैक्टीरिया, वायरस आदि इतनी अधिक मात्रा में हैं कि वे हर किसी को पहले सांस की बीमारी की ओर धकेलते हैं, बाद में ऐसे व्यक्ति हाइपरटेंशन, हार्ट, कैंसर आदि बीमारियों की ओर बढ़ने लगते हैं। बच्चों के फेफड़ों पर इनका तुरंत असर पड़ता है। महिलाओं पर इनका असर इतना बुरा हो रहा है कि उनकी प्रजनन क्षमता भी प्रभावित हो रही है।



सर्दियों में ऊनी कपड़े आपकी मौसम की जरूरत के साथ ही स्टाइल की मांग को भी पूरा करें, इसके लिए जरूरी है कि इनके नाजुक फैब्रिक की देखरेख भी सही ढंग से की जाए, ताकि वे हमेशा नए जैसे बने रहें।
ऑनलाइन अपैरल स्टोर ‘वूनिक’ की मुख्य स्टाइलिस्ट भव्या चावला ने कुछ टिप्स दिए हैं, जिससे ऊनी कपड़े हमेशा नए जैसा बने रहेंगे।
उपयुक्त ब्रश : स्वेटरों को वॉशिंग मशीन में धोने से बचें, क्योंकि इससे उनकी चमक खो जाती है। इसकी जगह ऊनी कपड़ों के इस्तेमाल के बाद हर बार पर उन पर जमी धूल या कीटों को झाड़ने के लिए इलेक्ट्रोस्टेटिक ब्रश का इस्तेमाल करें। ऊनी कपड़ों को नए जैसा रखने के लिए उन्हें थोड़ी देर हवा लगने देना भी जरूरी है।
दाग धब्बे : अगर आपके स्वेटर या शॉल पर कोई दाग-धब्बा लग जाए तो उसे तुरंत ड्राई क्लीन कराएं। अगर धब्बा ज्यादा गहरा नहीं है तो खासतौर पर ऊनी कपड़ों के लिए बने डिटरजेंट से साफ करें। ऊनी कपड़ों के डिटर्जेंट को गुनगुने पानी में घोलें और कपड़ों को उसमें भिगो दें। हल्के हाथों से उन्हें धोएं, लेकिन ध्यान रखें कि जिन कपड़ों पर केवल ड्राई क्लीनिंग के निर्देश दिए हों, उन्हें इस प्रकार न धोएं।
लटकाएं नहीं : ऊनी कपड़ों को अन्य कपड़ों की तरह तार पर लटका कर न सुखाएं, क्योंकि इससे उनका फैब्रिक खिंच सकता है।
स्टीम प्रेस का प्रयोग करें : पूरी तरह से सूख चुके ऊनी कपड़ों को प्रेस करना सही नहीं है, क्योंकि इससे उनकी सिलवटें ठीक से नहीं निकलेंगी और उनके रेशों के जलने का खतरा बना रहेगा। इसकी जगह स्टीम प्रेस का इस्तेमाल करें। अगर स्टीम प्रेस न हो तो ऊनी कपड़ों और प्रेस के बीच एक सादे सफेद कपड़ों को गीला करके रखें। प्रयोग न किए जाने पर स्वेटर को उल्टा करके रखना उसकी उम्र बढ़ाएगा।
कीट-कीड़ों से बचाएं : ऊनी कपड़ों पर कीटों-कीड़ों से नुकसान का खतरा होता है। इसलिए ऊनी कपड़ों के साथ अलमारी में नैप्थलीन की गोलियां रखना न भूलें।

महिलाओं ही नहीं, हर उम्र के पुरुषों को भी सर्दियों में बालों का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे बच्चे हैं, युवा हैं या फिर बुजुर्ग। हर किसी को सर्दियों में बालों की विशेष देखभाल करनी चाहिए। इसके लिए विशेषज्ञों से बातचीत कर टिप्स दे रही हैं सुषमा कुमारी
* अन्य दिनों के मुकाबले सर्दियों में बालों को साफ रखना ज्यादा जरूरी होता है, इसलिए हफ्ते में कम से कम चार दिन बाल जरूर धोएं। हो सके तो आप हर रोज बालों की सफाई करें।
* सर्दियों में नहाते समय अकसर बालों को भी हम गर्म पानी से धो लेते हैं। गर्म पानी से बाल धोने से स्कैल्प को नुकसान पहुंचता है और डैंड्रफ होने की आशंका बढ़ जाती है। इसलिए बाल धोने के लिए आप इतने ही गर्म पानी का इस्तेमाल करें, जिससे ठंड न लगे।
* बालों में देर तक शैंपू लगे रहने से भी स्कैल्प को नुकसान पहुंचता है और बाल जड़ से कमजोर होते हैं, इसलिए शैंपू लगाने के 2-3 मिनट बाद ही उसे अच्छी तरह धो दें।
* बाल उलझें या टूटें नहीं, इसके लिए जरूरी है कि बालों में कंडीशनर के प्रयोग को लेकर विशेषज्ञों की सलाह लें। विशेषज्ञों के चयन में थोड़ी सावधानी बरतें। जितना हो सके, कंडीशनर के प्रयोग से बचें।
* चलता है वाली सोच से बाहर निकलें। अपने गीले बालों को बांधें नहीं। सर्दियों में गीले बालों को बांध लेने से वे दिनभर गीले रह जाते हैं, जिसका नुकसान बालों और स्कैल्प, दोनों को होता है। इसलिए बहुत जरूरी हो तो उन्हें सावधानी से सुखा लें या फिर कपड़े से हल्के हाथों से मल कर सुखा लें। हालांकि बेहतर होगा कि अपने बालों को आप प्राकृतिक तौर पर सूखने का समय दें।
* बालों को टूटने या नुकसान से बचाने के लिए उन्हें ब्लो ड्राई करने से बचें। बाल गीले हों तो कंघी करने से बचें। गीले बालों में कंघी करने से बाल ज्यादा टूटते हैं। बहुत जरूरी हो तो ऑलिव ऑयल की बूंदें कंघी पर हल्की सी लगा लें और फिर उससे कंघी करें। बेहतर होगा कि आप मोटे दांतों वाली कंघी का इस्तेमाल करें।
* सिर में खुजली होती है या फंगल या बैक्टीरियल संक्रमण का खतरा रहता है तो चाय के तेल से सिर पर मसाज करें, लाभ होगा।
* नहाने से पहले स्कैल्प पर विटामिन ई, ऑलिव ऑयल या नारियल तेल से मसाज करें। इन्हें नेचुरल स्कैल्प ऑयल माना जाता है, जो ड्राई हेयर को भी मॉइस्चराइज करता है।
* जितना ज्यादा संभव हो, साफ पानी पिएं। इससे आपके शरीर ही नहीं, बालों को भी काफी फायदा होगा।
* बालों को खूबसूरत, चमकदार और घना बनाए रखना चाहते हैं तो हल्के गर्म तेल में ऑलिव ऑयल, सनफ्लावर, एवोकाडो या जोजोबा ऑयल मिला कर रात को सोने से पहले उनकी जड़ें पर लगाएं।
* डैंड्रफ से परेशान हो चुके हैं तो अपने तेल को हल्का गर्म करके उसमें नीबू का रस मिला कर बालों में लगाएं। आप इसे स्कैल्प से लेकर बालों के छोर तक हर जगह लगा सकते हैं।
* सर्दियों में बाल ज्यादा उलझते हैं, इसलिए बेहतर होगा कि प्लास्टिक की कंघी का प्रयोग करें। इस मौसम में बालों की चमक बनाए रखना चाहते हैं तो बालों में जड़ें से लेकर छोर तक शहद का प्रयोग करें।
* ठंड से बचने के लिए टोपी जरूर पहनें, पर ध्यान रखें कि टोपी इतनी टाइट न हो कि आपके सिर में सही से रक्त का संचार ही न होने दे।
* बालों में हाई एल्कोहल कंटेंट का इस्तेमाल करने से बचें। परफ्यूम लगाते समय भी ध्यान रखें कि वह बालों में न लग जाए। यह बालों को ड्राई और सख्त कर देता है।
* दिनभर बालों को टोपी से ढक कर रखने से परेशानी महसूस हो रही हो तो बेहतर होगा कि सोने से पहले कंघी में विटामिन-ई युक्त तेल लगा कर उससे बालों में कंघी करके सोएं।

नई दिल्ली: पर्थ में वाका मैदान पर कई नए चेहरे अंतरराष्ट्रीय करियर शुरू कर सकते हैं। किसी तेज़ गेंदबाज़ के करियर शुरू करने के लिए वाका से बेहतर शायद ही कोई पिच हो। सीरीज़ के पहले ही मोहम्मद शमी के अनफ़िट हो जाने के बाद पंजाब के सीमर्स गेंदबाज़ बरिंदर सरां के लिए बेहतरीन मौक़ा है। स्विंग के कारण युवराज सिंह बरिंदर को अगला ज़हीर खान कहते हैं। 23 साल के बरिंदर कभी बॉक्सर बनना चाहते थे।

दाएं हाथ के मध्यक्रम बल्लेबाज़ और ऑफ़ स्पिनर गुरकीकत सिंह मान को भी उम्मीद है कि सीरीज़ में उन्हें भी अंतरराष्ट्रीय कैंप मिलेगा। पिछले साल ऑस्ट्रेलिया 'ए' पर जीत में उनके ऑलराउंड प्रदर्शन की अहम भूमिका थी। तेज़ गेंदबाज़ ऋषि धवन मे 2014 में इंडिया 'ए' की ओर से ऑस्ट्रेलिया में शानदार प्रदर्शन किया था। 25 साल के धवन नीचले क्रम के शक्तिशाली बल्लेबाज़ भी हैं। मध्य क्रम के आक्रामक बल्लेबाज़ मनीष पांडेय भी मौक़े की तलाश में हैं।

महेंद्र सिंह धोनी कहते हैं कि मेरी नजर में ऑस्ट्रेलिया बहुत अच्छी टीम है। उनकी तरह हमारी टीम में भी कई नए चेहर हैं। युवा खिलाड़ियों के लिए चुनौती को स्वीकार कर अच्छा प्रदर्शन करना होगा। दोनों टीमें इस वक्त बराबरी पर हैं। वहीं, ऑस्ट्रेलियाई टीम दो नए खिलाड़ियों को मैदान पर उतारने की तैयारी कर चुकी है,जिसमें जोएल पेरिस और स्कॉट बोलैंड शामिल हैं। बाएं हाथ के गेंदबाज़ होने के कारण जोएल पेरिस वाका की तेज़ पिच पर खतरनाक साबित हो सकते हैं।

वहीं, एक और युवा तेज़ स्कॉट बोलैंड भी खेलने की उम्मीद कर रहे हैं। बोलैंड को डेथ ओवर्स का खतरनाक बॉलर माना जा रहा है। 24 साल के केन रिचर्डसन 3 साल बाद वापसी कर रहे हैं। कंगारू कप्तान स्टीवन स्मिथ ने कहा "हमारी गेंदबाज़ी में अनुभवी और युवा का मिश्रण है। ये सभी अच्छी गेंदबूाज़ी कर रहे हैं। ऑस्ट्रेलियाई युवा क्रिकेटर्स के लिए उत्साह का समय है। हमारे गेंदबाज़ वाका और गाबा के विकेट पर अच्छी गेंदबाज़ी करेंगे।" पर्थ की पिच तेज़ गेंदबाज़ों के लिए मददगार साबित होती रही है। इस बार भी गेंदबाज़ मैच का नतीज़ा तय करने को तैयार हैं।


नई दिल्ली: महिला डबल्स में दुनिया की नंबर 1 जोड़ी सानिया मिर्ज़ा और मार्टिना हिंगिस ने साल 2016 की शानदार शुरुआत की है। उन्होंने ब्रिसबेन इंटरनेशनल ख़िताब अपने नाम कर लिया है। खिताबी मुकाबले में सानिया और हिंगिस ने एंजेलिक केरबर और आंद्रिया पेटकोविच की जोड़ी को 7-5, 6-1 से हराया।
इस जीत के साथ विश्व नंबर 1 इस जोड़ी ने इसी महीने होने वाले साल के पहले ग्रैंड स्लैम ख़िताब ऑस्ट्रेलियन ओपन की दावेदारी पेश कर दी है। इस जोड़ी की ये लगातार 26वीं जीत है। पिछले साल इस जोड़ी ने 5 ख़िताब अपने नाम किए थे और इस साल भी जीत के साथ हुई इस शुरुआत से उम्मीद है कि साल 2016 पिछले साल से ज्यादा कामयाब होगा।
लगातार जीत के विश्व रिकॉड से यह जोड़ी महज दो कदम दूर है। लगातार जीत का विश्व रिकॉर्ड गिगी फर्नांडिस और नताशा ज्वेरेवा की जोड़ी के नाम है, जिन्होंने 1994 के सत्र में लगातार 28 जीतें हासिल कर यह रिकॉर्ड कायम किया था। सानिया की यहां यह दूसरी जीत है। इससे पहले उन्होंने 2013 में अमेरिका की बेथानेई माटेक के साथ यह खिताब जीता था, जबकि मार्टिना ने यह खिताब बचाए रखा है। उन्होंने जर्मनी की सेबिने लिसिक्सी के साथ पिछले साल यह खिताब जीता था।

ब्रिसबेन: अपनी ताकतवर सर्विस के लिए पहचाने जाने वाले कनाडा के मिलोस राओनिक ने रोजर फेडरर को 6-4, 6-4 से हराकर ब्रिसबेन इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया।
25 साल के राओनिक ने 17 बार के ग्रैंडस्लैम चैंपियन फेडरर की सर्विस दोनों सेट में एक-एक बार तोड़ते हुए खिताब अपने नाम किया। फेडरर के खिलाफ 11 मैचों में यह राओनिक की सिर्फ दूसरी जीत है।
फेडरर टूर्नामेंट की शुरुआत में बीमार थे, लेकिन प्रत्येक दौर के साथ उनका खेल बेहतर हो रहा था। रविवार को वह हालांकि राओनिक के सामने कोई चुनौती पेश नहीं कर सके। राओनिक का यह एटीपी टूर पर आठवां खिताब है। पिछले साल इसी टूर्नामेंट के फाइनल में उन्हें फेडरर के खिलाफ तीन सेट में शिकस्त का सामना करना पड़ा था।

नई दिल्ली: एक फरवरी से दिल्ली सरकार के किसी अस्पताल में किसी व्यक्ति को कोई भी दवाई या अन्य चीजों के लिए न नहीं कहा जाएगा। दिल्ली सरकार ने इस बारे में फैसला लिया है। पहले अस्पताल अपनी दवाएं खुद खरीदते थे, अब केंद्रीकृत (centralised) खरीदारी होगी।
सरकार की ओर से अस्पतालों को हर दवा का 3 महीने का स्टॉक रखने को कहा गया है। इस बारे में एक हेल्पलाइन नंबर एक फरवरी को जारी होगा। अगर किसी व्यक्ति को सुझाई हुई दवा न मिले तो उसे सूचना देने पर वह मिल जाएगी। मेडिकल सुप्रिंटेंडेंट को इमरजेंसी में दवा खरीदने का अधिकार होगा। अस्पतालों में जरूरत की कुछ अन्य चीजें भी फ्री होंगी।

मुंबई: सेल्फी लेने की कोशिश में युवती की मौत के बाद चिंतित मुंबई पुलिस अब समंदर किनारे पत्थरों पर सेल्फी लेने पर रोक लगाने पर विचार कर रही है। पुलिस का कहना है वह इसके लिए बीएमसी को पत्र लिखकर ऐसे सभी ठिकानों पर सूचना बोर्ड लगाने को कहेगी, जहां सेल्फी लेना खतरनाक हो सकता है।
शनिवार की सुबह एक युवती के लिए बांद्रा के बैंड स्टैंड के पास पानी के बीच पत्थर पर खड़े होकर सेल्फी का शौक जानलेवा साबित हुआ। पास में ही मौजूद रमेश वालूंज ने एक युवती को तो बचा लिया लेकिन दूसरी को बचाने की कोशिश में खुद की जान गंवा बैठे। अब आगे फिर से सेल्फी किसी की मौत की वजह न बने, इसके लिए मुंबई पुलिस ने अब सेल्फी के शौकीनों को समंदर के करीब जाने से रोकना शुरू कर दिया है।
मुंबई पुलिस के डीसीपी धनंजय कुलकर्णी ने NDTV इंडिया को बताया कि मुंबई में समंदर किनारे जहां भी लोग घूमने जाते हैं, सेल्फी खिचाते हैं। वहां 50 से भी ज्यादा सिपाहियों को तैनात किया गया है, जो सेल्फी के शौकीनों को पानी के बीच पत्थरों पर खड़े होकर सेल्फी लेने से रोक रहे हैं। कुलकर्णी के मुताबिक पुलिस बीएमसी को भी खत लिखकर सावधानी के बोर्ड लगाने पर विचार कर रही है।

मेरठ: नौकरी का झांसा देकर दो युवकों ने दिल्ली की एक युवती से कथित रूप से सामूहिक दुष्कर्म किया। पुलिस के अनुसार दिल्ली की मंगोलपुरी निवासी 21 वर्षीय युवती ने पुलिस में दी तहरीर में बताया है कि वह स्नातक है और नौकरी की तलाश कर रही थी।

उसकी करीब तीन माह पहले प्रताप नामक युवक से दोस्ती हुई, जिसने उसे नौकरी दिलवाने का भरोसा दिया। प्रताप उसे नौकरी दिलाने के नाम पर दिल्ली, फरीदाबाद और आसपास के क्षेत्रों में भी ले गया।

युवती का आरोप है कि करीब दस दिन पहले प्रताप उसे नौकरी दिलवाने के बहाने अपने साथ ले गया। रास्ते में उसने कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ देकर बेहाशी की हालत में मेरठ के थाना दौराला क्षेत्र के एक मकान में ले गया जहां उसने और उसके दोस्त सुबोध निवासी खतौली ने उससे सामूहिक दुष्कर्म किया। इसके बाद उसे दौराला बस स्टैंड से दिल्ली जा रही बस में बैठा दिया।

पुलिस के अनुसार पीड़ित युवती प्रताप का पता नहीं बता पाई। घटना दौराला में किस मकान पर हुई इसकी भी युवती को जानकारी नहीं है। फिलहाल युवती का डॉक्टरी परीक्षण कराकर आरोपी युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश की जा रही है। युवकों के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल भी निकाली जा रही है।


लंदन: वैज्ञानिकों ने कहा है कि अंतरिक्ष यात्रियों और रोबोटिक प्रणालियों के सहयोग से चंद्रमा पर गांव बसाने की योजना साल 2030 तक हकीकत बन सकती है।
नीदरलैंड में हुए यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी की संगोष्ठी में वैज्ञानिकों, इंजीनीयरों और उद्योग विशेषज्ञों ने कहा कि 'चंद्र गांव', मंगल और अन्य ग्रहों के भावी मानव अभियानों के लिए एक संभावित प्रेरणा स्रोत बन सकता है।
अमेरिका स्थित नोट्रेडेम विश्वविद्यालय के क्लाइव नील ने कहा कि इस लक्ष्य को हकीकत में तब्दील करने के लिए वैज्ञानिकों को अवश्य ही पहले यह तय करना चाहिए कि क्या चंद्रमा पर संसाधन हमारी सोच के अनुसार महत्व रखते हैं।
उन्होंने कहा कि हम चंद्रमा के संसाधनों के बारे में बात करना जारी रखेंगे, लेकिन हमें अब भी यह दिखाने की जरूरत है कि क्या उनका इस्तेमाल हो सकता है।
नील ने कहा कि इसलिए सबसे पहले वहां उपलब्ध संसाधनों के आकार, संरचना, स्वरूप और एकरूपता को समन्वित रूप से प्रमाणित करने की जरूरत है। अगले कदम के तौर पर इनके खनन की तकनीक और परिशोधन के बाद उत्पाद को उपयोगी वस्तु के रूप में दिखाना होगा।
उन्होंने बताया कि ईएसए बैठक में चंद्रमा पर उतरने और रोबोटिक नमूने लाने आदि के बारे में प्रौद्योगिकी विकसित करने का जिक्र किया गया। उन्होंने कहा कि इसके लिए काफी निवेश करने और पहल करने की जरूरत होगी।

जबलपुर: जीवन में कुछ बेहतर करने की ललक के साथ समाज की राष्ट्रीयस्तर पर अर्थपूर्ण सेवा के लिये आईएएस अधिकारी रोमन सैनी ने प्रतिष्ठित भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) से इस्तीफा दे दिया है।
जबलपुर के कलेक्टर एस.एन. रूपला ने बताया, ‘राष्ट्रीय स्तर पर कुछ और बेहतर करने के लिये सैनी (24) ने सितंबर 2015 में आईएएस सेवा छोड़ने का निर्णय लिया।’ उनके अनुसार युवा आईएएस अधिकारी ने सिविल सेवा में शामिल होने वाले प्रतिभागियों को मुफ्त में पढ़ाने के लिये ‘अनएकेडमी’ नामक एक संस्था शुरू की है।
उन्होंने कहा कि 2013 में 21 वर्ष की आयु में सिविल सेवा परीक्षा पास करने वाले सैनी का इस्तीफा केन्द्रीय कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग ने फिलहाल स्वीकार नहीं किया है।

नई दिल्ली: ग्लोडन ग्लोब अवॉर्ड्स के मौके पर लियोनार्डो डीकैप्रियो और लेडी गागा के बीच चंद सेकंड के लिए जो कुछ हुआ, वह चर्चा का विषय बन गया। लियो के लिए भले ही 'ऊप्स मोमेंट' जैसा हो लेकिन निश्चित तौर पर उनके चेहरे के हाव भाव ऐसे थे कि सोशल मीडिया पर वे चंद सेंकड वायरल हो गए।
दरअसल, टीवी मूवी में बेस्ट एक्ट्रेस के लिए लेडी गागा को उनका पहला गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड मिला है। उन्हें यह American Horror Story: Hotel के लिए मिला है। वह हॉल में शायद थोड़ा ज्यादा ही पीछे की ओर बैठी हुई थीं। इसी लिए उन्हें अवॉर्ड लेने के लिए स्टेज तक आने के लिए थोड़ा अधिक ही चलकर आना पड़ा। स्टेज तक पहुंचने के रास्ते में उनकी कोहनी लियो से कुछ अजीब से तरीके से टकराई। पहले से ही हंसते हुए लियो अचंभित हुए लेकिन फिर जो जो भा भंगिमाएं उन्होंने दीं, वे काबिलेगौर थे और मजेदार थीं!
वह पहले से ही किस बात पर हंस-खिलखिला रहे थे यह तो नहीं पता, लेकिन जैसे ही यहां-वहां से स्टेज की ओर पहुंचने जा रहीं लेडी गागा उनकी ओर से गुजरीं, लेडी गागा का हाथ (कोहनी) जिस अंदाज में लहलहाया, वह हल्का लियो की ओर मुड़ गया। यह वीडियो देखें खुद ब खुद समझ जाएंगे कि लियो और गागा के बीच के इन अजूबे लेकिन मजेदार पलों के बीच ऐसा क्या था कि वह चर्चा का विषय बन गया। वैसे बता दें कि लियो को बेस्ट फिल्म एक्टर (ड्रामा) कैटिगरी में The Revenant फिल्म के लिए ग्लोडन ग्लोब से नवाजा गया है।

नई दिल्‍ली: पाकिस्तान ने पठानकोट एयरबेस पर हुए आतंकी हमले की जांच के लिए जेआईटी का गठन करने का फैसला किया है। ख़बर के मुताबिक, पाक प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने अपने ख़ुफ़िया चीफ को मामले की जांच के लिए ज्वाइंट इंवेस्टिगेशन टीम बनाने को कहा है। भारत ने पाकिस्तान के इस कदम का स्वागत किया है और कहा है कि वह अब नतीजों का इंतजार कर रहा है।
जांच कमेटी को भारत द्वारा लगाए गए उन आरोपों की तहकीकात करनी है, जिसमें भारत सरकार ने हमले की साजिश के लिए पाकिस्तान में बैठे आतंकियों पर आरोप लगाए हैं।
दरअसल, पठानकोट हमले के बाद भारत सरकार के विदेश मंत्रालय ने साफ़ किया है कि पाकिस्तान भारत के दिए सुराग़ों पर कार्रवाई करता दिखे, तभी बात होगी, जिसके बाद पाक पीएम नवाज़ शरीफ़ ने आला अधिकारियों के साथ पठानकोट हमले को लेकर दो बार हाईलेवल मीटिंग की थी।
इसके साथ ही अमेरिका ने भी पाकिस्‍तान से भारत में हुए इस आतंकी हमले की त्‍वरित जांच किए जाने का दबाव बनाया है।

Author Name

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.