January 2019

इस सप्ताह है संकष्टी श्रीगणेश चतुर्थी व्रत और माघ कृष्ण अष्टमी, पढ़ें 22 जनवरी से 28 जनवरी तक के व्रत और त्योहार
22 जनवरी (मंगलवार) : अवम् (द्वितीया तिथि क्षय)। 
23 जनवरी (बुधवार) : माघ कृष्ण तृतीया रात्रि 11.59 बजे तक उपरांत चतुर्थी।
24 जनवरी (गुरुवार) : संकष्टी श्रीगणेश चतुर्थी व्रत। तिलकुटी चतुर्थी। गौरी चतुर्थी।
25 जनवरी (शुक्रवार) : माघ कृष्ण पंचमी सायं 6.18 बजे तक उपरांत षष्ठी।
26 जनवरी (शनिवार) : माघ कृष्ण षष्ठी सायं 4.20 बजे तक पश्चात सप्तमी। भारतीय गणतंत्र दिवस।
27 जनवरी (रविवार) : रवि सप्तमी। जगद्गुरु रामानंद आचार्य जयंती। स्वामी विवेकानंद जयंती (तिथि से)।
28 जनवरी (सोमवार) : माघ कृष्ण अष्टमी मध्याह्न 2.30 बजे तक पश्चात नवमी। 


सकट चौथ 24 जनवरी को है। वक्रतुंडी चतुर्थी, माघी चौथ अथवा तिलकुटा चौथ भी इसी को कहते हैं। सूर्योदय से पूर्व स्नान के बाद उत्तर दिशा की ओर मुंह कर गणेश जी को नदी में 21 बार, तो घर में एक बार जल देना चाहिए। सकट चौथ संतान की लंबी आयु हेतु किया जाता है। चतुर्थी के दिन मूली नहीं खानी चाहिए, धन-हानि की आशंका होती है।
देर शाम चंद्रोदय के समय व्रती को तिल, गुड़ आदि का अर्घ्य चंद्रमा, गणेश जी और चतुर्थी माता को अवश्य देना चाहिए। अर्घ्य देकर ही व्रत खोला जाता है। इस दिन स्त्रियां निर्जल व्रत करती हैं। सूर्यास्त से पहले गणेश संकष्टी चतुर्थी व्रत की कथा-पूजा होती है। इस दिन तिल का प्रसाद खाना चाहिए। दूर्वा, शमी, बेलपत्र और गुड़ में बने तिल के लड्डू चढ़ाने चाहिए। 
इस व्रत की कथा है- सत्ययुग में महाराज हरिश्चंद्र के नगर में एक कुम्हार रहता था। एक बार उसने बर्तन बनाकर आंवा लगाया, पर आवां पका ही नहीं। बार-बार बर्तन कच्चे रह गए। बार-बार नुकसान होते देख उसने एक तांत्रिक से पूछा, तो उसने कहा कि बलि से ही तुम्हारा काम बनेगा। तब उसने तपस्वी ऋषि शर्मा की मृत्यु से बेसहारा हुए उनके पुत्र की सकट चौथ के दिन बलि दे दी।
उस लड़के की माता ने उस दिन गणेश पूजा की थी। बहुत तलाशने पर जब पुत्र नहीं मिला, तो मां ने भगवान गणेश से प्रार्थना की। सवेरे कुम्हार ने देखा कि वृद्धा का पुत्र तो जीवित था। डर कर कुम्हार ने राजा के सामने अपना पाप स्वीकार किया। राजा ने वृद्धा से इस चमत्कार का रहस्य पूछा, तो उसने गणेश पूजा के विषय में बताया। तब राजा ने सकट चौथ की महिमा को मानते हुए पूरे नगर में गणेश पूजा करने का आदेश दिया। कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकट हारिणी माना *जाता है। 

प्रत्येक चंद्र मास में दो चतुर्थी होती है। पूर्णिमा के बाद की चतुर्थी संकष्टी एवं अमावस्या के बाद आने वाली चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहते हैं। इस प्रकार 1 वर्ष में 12 संकष्टी चतुर्थी होती है जिनमें माघ कृष्ण पक्ष की चतुर्थी विशेष फलदाई है। पंडित शक्तिधर त्रिपाठी ने बताया कि इस वर्ष की यह विशेष चतुर्थी 24 जनवरी गुरुवार को है। चंद्र देव का उदय रात्रि 9:10 पर होगा। चंद्रोदय के पश्चात लाल या पीला वस्त्र धारण करके ॐ गं गणपतए नमः मंत्र से सकल विघ्न विनाशक श्री गणेश जी का विधिपूर्वक पूजन करने और कम से कम 11 माला उक्त मंत्र का जप करने से मन वांछित फल की प्राप्ति होती है।
संकट चौथ व्रत का महत्व
सीतापुर रोड स्थित हाथी बाबा मन्दिर के ज्योतिषी आनन्द दुबे ने बताया कि यह व्रत स्त्रियां अपने संतान की दीर्घायु और सफलता के लिए करती है। इस व्रत के प्रभाव से संतान को रिद्धि-सिद्धि की प्राप्ति होती है तथा उनके जीवन में आने वाली सभी विघ्न–बाधायें गणेश जी दूर कर देते हैं। इस दिन स्त्रियां पूरे दिन निर्जला व्रत रखती है और शाम को गणेश पूजन तथा चंद्रमा को अर्घ्य देने के पश्चात् ही जल ग्रहण करती है।

व्हॉट्सएप अब वैश्विक स्तर पर फॉरवर्ड किए जाने वाले संदेशों को एक बार में पांच चैट तक सीमित करने जा रही है। कंपनी भारत में इसे पिछले साल जुलाई में ही लागू कर चुकी है। फेसबुक की कंपनी व्हॉट्सएप ने यह कदम अपने मंच से अफवाहों तथा फर्जी खबरों पर अंकुश लगाने के लिए उठाया है। व्हॉट्सएप ने सोमवार को अपने ब्लॉग पर लिखा है कि इससे कंपनी को निजी संदेशों पर ध्यान देने में मदद मिलेगी। 
कंपनी ने कहा कि हमने सावधानी से इस परीक्षण का आकलन किया और करीब छह माह तक प्रयोगकर्ताओं की ओर से मिली प्रतिक्रियाओं पर गौर किया। संदेश फॉरवर्ड करने की सीमा तय किए जाने से दुनिया भर में संदेशों को आगे भेजने पर अंकुश लगेगा। 
व्हॉट्सएप ने कहा, ''आज यानी सोमवार से ताजा संस्करण पर सभी प्रयोगकर्ता एक बार में किसी संदेश आदि को सिर्फ पांच लोगों को फॉरवर्ड कर सकेंगे। व्हॉट्सएप भारत, ब्राजील और इंडोनिशया को अपना प्रमुख बाजार मानती है। कंपनी ने कहा कि वह प्रयोगकर्ताओं की प्रतिक्रियाओं पर लगातार ध्यान देगी और समय के साथ 'वायरल सामग्री के मुद्दे से निपटने को नए तरीके अपनाएगी। 
व्हॉट्सएप के प्रवक्ता ने पीटीआई भाषा से कहा कि परीक्षण की अवधि के दौरान व्हॉट्सएप पर साझा किए जाने वाले संदेशों को फॉरवर्ड करने की संख्या में 25 प्रतिशत की कमी आई है। 

प्रवक्ता ने कहा कि अपनी करीबी दोस्तों को संदेश देने और किसी तरह का दुरुपयोग रोकने के लिए यह पर्याप्त संख्या है। कंपनी ने यह कदम ऐसे समय उठाया है जबकि दुनियाभर में सरकारें और नियामक डिजिटल प्लेटफार्म से फर्जी संदेशों के प्रसार को रोकने के लिए प्रभावी तरीका तलाश रहे हैं। 

भारत में व्हॉट्सएप से प्रसारित अफवाहों की वजह से भीड़ की पिटाई की कई घटनाएं हुईं। इन घटनाओं में कई जानें भी गईं। इसके बाद भारत में व्हॉट्सएप को सरकार की कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा। सरकार के दबाव के बाद कंपनी ने फॉरवर्ड किए जाने वाले संदेशों की सीमा को एक बार में पांच कर दिया। साथ ही तेजी से फॉरवर्ड करने के बटन को भी हटा दिया। भारत में व्हॉट्सएप का इस्तेमाल करने वालों की संख्या 20 करोड़ से अधिक है। 

हिन्दी के उपभोगकर्ताओं के लिए एक बेहद उपयोगी एप लॉन्च हुआ है, जिसका नाम है आवाज.कॉम (aawaz .com )। एप निर्माता कंपनी दावा है कि इस प्लेटफॉर्म पर हिन्दी व अन्य भारतीय भाषाओं में उपभोगकर्ताओं को गुणवत्तापूर्ण कन्टेंट पढ़ने और सुनने को मिलेगा, जिसमें करियर, खेल, मनोरंजन जैसे क्षेत्र की जानकारियों से उपयोगकर्ता लगातार अपडेट होते रहेंगे। साथ ही किसानों के लिए कृषि संबंधी विशेष सामग्री उपलब्ध होगी। यह एप फिलहाल वेब और एंड्रॉयड एप के रूप में उपलब्ध है। स्मार्टफोन उपयोगकर्ता इसे प्ले स्टोर से मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं।

हुवावे का सब ब्रांड हॉनर आज अपना फ्लैगशिप स्मार्टफोन Honor View 20 लॉन्च करेगा। बताते चलें कि पिछले महीने चीनी मार्केट में लॉन्च हुए Honor V20 का ग्लोबल वेरिएंट है Honor View 20। इसमें सेल्फी सेंसर के लिए डिस्प्ले में छेद और 48 मेगापिक्सल का कैमरा सेंसर दिया है। आज इस स्मार्टफोन को पेरिस में आयोजित इवेंट में लॉन्च किया जाना है। इसी महीने यह भारत में लॉन्च हो सकता है जिसकी शुरुआती कीमत करीब 30,400 रुपये हो सकती है। 

अगर आप विंडोज फोन चलाते हैं तो आपके लिए यह अहम खबर है। मोबाइल संचालक प्रणाली (ओएस) माइक्रोसॉफ्ट विंडोज दिसंबर से काम करना बंद कर देगी। माइक्रोसॉफ्ट ने अपने उपयोगकर्ताओं को सलाह भी दी है कि वे एंड्रॉयड या आईओएस ओएस वाले डिवाइस को अपना लें। यानी उपयोगकर्ताओं को अपना विंडोज फोन बदला होगा। आइए जानते हैं कि माइक्रोसॉफ्ट के इस कदम के पीछे क्या कारण है और इसका कितना असर विंडोज फोन उपयोगकर्ताओं पर पड़ेगा.. 
दिग्गज आईटी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने आधिकारिक रूप से बयान जारी करके अपने कदम की पुष्टि कर दी। काफी समय से माइक्रोसॉफ्ट अपने विंडोज फोन के लिए अपडेट नहीं ला रही थी। जिससे जानकार अंदाजा लगा रहे थे कि माइक्रोसॉफ्ट इसे बंद कर देगी। 
दस दिसंबर से बंद हो जाएगी सेवा 
'एंड ऑफ सपोर्ट' नाम के पेज पर माइक्रोसॉफ्ट ने लिखा है कि विंडोज 10 मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम में सपोर्ट को समाप्त कर दिया जाएगा। माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि दस दिसंबर, 2019 से कंपनी सिक्योरिटी अपडेट, नॉन सिक्योरिटी हॉटफिक्सिस, फ्री असिस्टेड सपोर्ट ऑप्शन या टेक्निकल कन्टेंट अपडेट भेजना बंद कर देगी। 
बंद होने तक रहेगी अपडेट की दिक्कत  
कंपनी ने यह भी स्पष्ट किया है कि दस दिसंबर तक भी सिर्फ कुछ ही विंडोज फोन को अपडेट भेजे जाएंगे, अधिकतर फोन पर उससे पहले ही अपडेट भेजना बंद हो जाएगा। यानी सेवा बंद होने की तारीख के पहले से ही विंडोज 10 मोबाइल उपयोगकर्ताओं को अपडेट संबंधी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। 
एक समय प्रतिद्वंदी थे ब्लैकबेरी और आईफोन   
2010 में माइक्रोसॉफ्ट ने ऑपरेटिंग सिस्टम को अपग्रेड करके विंडोज फोन 7 लॉन्च किया था। उस समय कंपनी ने इस तरह के दावे किए थे, उसके आधार पर माना जा रहा था कि वह विंडोज फोन को दुनियाभर में लोकप्रिय बना देगी। नोकिया का अधिग्रहण करके माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज फोन भी बनाए पर वह प्रयास भी असफल रहा। 
एप के खेल में हुआ फेल 
विंडोज को ऑपरेटिंग सिस्टम के बाजार में कड़ी टक्कर एंड्रॉयड और आईओएस ने दी। विंडोज के पास इतने एप नहीं थे, जितने एंड्रॉयड और एप्पल के पास थे। ऐसे में विंडोज खुद को इस दौड़ में बनाए रखने के लिए जरूरी कदम नहीं उठा सकी। थर्ड पार्टी एप का इस प्लेटफॉर्म को बहुत साथ न मिलना भी इसके लिए नुकसानदायक साबित हुआ। 

Author Name

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.