"उल्हास विकास" ठाणे जिले का पहला हिन्दी न्यूज एंड्रॉयड मोबाइल ऐप बना
Click on the Image to Download the App from Google Play Store

andriod app

ठाणे की तर्ज पर अब शहर में भी पी1-पी-2 खत्म हो, उल्हासनगर में नए मरीज 46, एक्टिव 327, अंबरनाथ में नए मरीज 35, एक्टिव 342

🔺 उल्हासनगर में नए मरीज 46एक्टिव मरीज 327
कोरोना मुक्त 6763, मृत्यु 168कुल संख्या 7258

🔺 अंबरनाथ में नए मरीज 35एक्टिव मरीज 342
कोरोना मुक्त 3880मृत्यु 171, कुल संख्या 4393

🔺 बदलापुर में नए मरीज 61, एक्टिव मरीज 384
कोरोना मुक्त 2836, मृत्यु 56, कुल संख्या 3276

🔺कल्याण-डोंबिवली में नए मरीज 330एक्टिव 4202
कोरोना मुक्त 18,870, मृत्यु 475, कुल संख्या 23,547
युसूफ शेख । हीरो बोधा
अंबरनाथ-उल्हासनगर में लाॅकडाऊन के कारण कई दुकानें बंद
दुकान मालिक-किराएदार में किराए को लेकर झगड़ा
अंबरनाथ। जिस तरह पालक मंत्री एकनाथ शिंदे के आदेश पर ठाणे मनपा द्वारा 15 अगस्त से पी-1 व पी-2 को रद्द कर रोजाना दुकानें दोनों तरफा सुबह 9 से शाम 7 बजे तक खोले जाने का आदेश जारी हुई है ठीक उसी तरह उल्हासनगर व अंबरनाथ में भी पी1-पी-2 को खत्म कर ठाणे की तर्ज पर यहां के दुकानों को भी रोजाना खोलने की अनुमति दी जाए। ऐसी मांग पिछले कई दिनों से व्यापारी भी कर रहे हैं। खबर मिली है कि जल्द ही शहर के लिए भी यह आदेश आ सकता है।
अंबरनाथ-उल्हासनगर के अलावा लगभग सभी शहरों में लाॅकडाऊन के कारण व्यापारी वर्ग काफी परेशान हैं। दुकानें चार महिने तक बंद रहने के कारण व्यापारी पूरी तरह ठप्प होकर रह गया है जब दुकानें खुली तो दुकान मालिकों के किराएदार व्यापारियों से किराया मांगना शुरू कर दिया। कुछ व्यापारियों ने दुकान मालिकों से मिलकर ये तय किया कि चार महिने कारोबार बंद रहा इसलिए दो महिने की छूट देकर दो महिने का किराया अदा करेंगे, लेकिन कुछ किराएदारों को ये मान्य नहीं हुआ तो उन्होंने अपने कारोबार बंद करके अपने मालिक को दुकान वापस कर दी इस तरह अंबरनाथ और उल्हासनगर में कई छोटी बड़ी दुकानें बंद हो गई है। लाॅकडाऊन के कारण कई दुकानों को लाॅक लग गया है। पी-1 व पी-2 एक दिन बंद एक दिन चालू दुकानें होने से भी व्यापारियों का भारी नुकसान हो रहा है। एक व्यापारी ने तो अपनी दुकान इसलिए बंद कर दिया क्योंकि पुलिस ने नियमों का उल्लंघन करने पर उस पर अपराध दाखिल कर दिया है। लाॅकडाऊन के कारण व्यापारी वर्ग अभी तक काफी परेशान है। दुकान-मकान का किराया, लाईट बिल, मालमत्ता कर ये सब कहां से भरेंगे। कुछ व्यापारी तो कोरोना के डर से दुकान नहीं खोल रहे हैं। जो भी हो व्यापारियों का लाॅकडाऊन में बड़ा नुकसान हुआ है।
उल्हासनगर में आज 56 हुए डिस्चार्ज
उल्हासनगर। उल्हासनगर महानगरपालिका क्षेत्र में 93.18 प्रतिशत रिकवरी रेट के साथ अब कोरोना के केवल 327 एक्टिव मरीज ही रह गए हैं। जिसमें से 117 मरीजों का ईलाज शहर के बाहर के अस्पतालों में चल रहा है वहीं 41 होम आयसोलेशन में तो निजी व सरकारी अस्पताल तथा कोविड सेंटर में 168 मरीजों का ईलाज चल रहा है। आज गुरुवार को कोरोना से चार मरीजों की मौत के बाद मरने वालों की कुल संख्या अब 168 हो गई है। आज 56 मरीजों के डिस्चार्ज होते ही कोरोना मुक्त मरीजों की संख्या अब 6763 हो गई है। गुरुवार को 46 नए पाॅजिटीव मरीजों के मिलते ही कोरोना ग्रस्त मरीजों की कुल संख्या अब 7258 हो गई है।
कोरोना जांच न होने से केसस कम निकल रहे हैं
उल्हासनगर मनपा जनसंपर्क अधिकारी युवराज भदाणे ने पत्रकार को बताया है कि शहर में कोरोना के आकड़े इसलिए कम पड़ रहे हैं क्योंकि लोग कोरोना की जांच ही नहीं कर रहे हैं। कोरोना के प्रति लोगों का डर और प्रशासन के गलत प्रचार के कारण ऐसा हो रहा है। लोग कोरोना खत्म हो गया है ऐसा समझ रहे हैं जबकि ऐसा नहीं है कोरोना इतना जल्दी खत्म होने वाला नहीं है इसलिए जनता को चाहिए कि जागरुक होकर कोरोना की टेस्ट कराएं प्रशासन ने पूरी व्यवस्था मरीजों के लिए की हुई है एंटीजन टेस्ट से अब इसका रिपोर्ट भी जल्द ही आ रहा है। अगर किसी को भी खांसी, बुखार व बदन दर्द की शिकायत हो तो वो कोरोना टेस्ट जरूर कराएं। कोरोना से डरने की नहीं उसे साथ मिलकर लड़ने की जरूरत है।
अंबरनाथ में अब तक 3880 कोरोना मुक्त
अंबरनाथ। अंबरनाथ में 13 अगस्त को 35 कोरोना बाधित मिले हैं। कुल संख्या 4393 हो गई है। अंबरनाथ में रिकवरी रेट बहुत अच्छी हो गई है। अब तक 3880 रोगी कोरोना को मात देकर घर गए है। मरीजों का रिकवरी रेट 88.92 प्रतिशत हो गया है लेकिन मृतकों की संख्या में रोज बढ़ोत्तरी हो रही है, जोकि चिंता को बढ़ा रहा है। 24 घंटे के भीतर तीन की मौत हुई है। प्रशासन को मृतकों की संख्या पर कंट्रोल करना मुश्किल हो रहा है। मृतकों की कुल संख्या 171 हो गई है। प्रतिशत 3.89 हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मृतकों का प्रतिशत एक प्रतिशत करने को कहा है। देखना है प्रशासन इस बार कितना और कैसे अमल करता है। कोरोना का उपचार 342 मरीज ले रहे हैं। एक्टिव मरीजों का प्रतिशत 7.78 है अब तक शहर में 10990 लोगों ने कोरोना कोविड 19 का चेकअप कराया है। आज 213 की जांच रिपोर्ट मिली है जिसमें 35 पाॅजिटीव पाए गए हैं। एंटीजन टेस्ट भी किया जा रहा है। डेंटल कोविड अस्पताल में 105 मरीज उपचार ले रहे हैं आज 35 में से पूर्व में 26 और पश्चिम में 9 कोरोना पाॅजिटीव मिले हैं। अंबरनाथ पश्चिम में कोरना का प्रादुर्भाव कम होता जा रहा है। 
बदलापुर में आज 61 नए पाॅजिटीव
बदलापुर। कुलगांव-बदलापुर नगरपारिषद क्षेत्र में गुरुवार को 61 नए पाॅजिटीव मरीज मिले हैं जिससे कोरोना ग्रस्त मरीजों की कुल संख्या अब 3276 हो गई है। यहां पर मृतकों का 1.70 प्रतिशत के साथ कुल मरने वालों की संख्या 56 है। यहां पर 86.56 प्रतिशत मरीज ठीक हुए हैं 2836 मरीज कोरोना मुक्त अब तक हो चुके हैं। 11.72 प्रतिशत के साथ एक्टिव मरीजों की कुल संख्या अब केवल 384 रह गई है। जिनका ईलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। अब तक 5041 लोगों का स्वेब टेस्ट हुआ है। आज 80 स्वेब की रिपोर्ट में 19 नेगेटिव और 61 पाॅजिटीव पाए गए हैं।
अंबरनाथ-बदलापुर में वंचिन आघाड़ी द्वारा 
लाॅकडाऊन हटाने हेतु डफली बजाओ आंदोलन
अंबरनाथ। वंचित बहुजन आघाड़ी ने अंबरनाथ और बदलापुर की ओर से सरकार द्वारा लगाए गए लाॅकडाऊन को हटाने के लिए डफली बजाओ आंदोलन किया गया। बदलापुर में आघाड़ी के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने पकड़कर थाने ले गई और उन्हें बाद में छोड़ दिया गया। ऐसी जानकारी हमें अंबरनाथ वंचित बहु.आघाड़ी के अध्यक्ष धनंजय सुर्वे ने दी। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी को देखते हुए गत पांच माह से लाॅकडाऊन शुरू है जिसके कारण आम जनता, व्यापारी वर्ग परेशान हैं। दुकानें बंद, एसटी-रिक्शा बंद, लोगों का कामकाज बंद, मजदूर परेशान हैं उन्हें काम नहीं। लोग भूखमरी का शिकार हो रहे हैं। अब लाॅकडाऊन की हद हो गई है। सरकार एक ओर अनलाॅक घोषित करके बार-बार नियमों को सख्ती करते हुए लाॅकडाऊन लागू कर रही है। ये लोगों के साथ अन्याय है। आघाड़ी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बालासाहेब आंबेडकर के आदेश पर महाराष्ट्र राज्य के कई शहरों में लाॅकडाऊन हटाने के लिए डफली बजाओ आंदोलन किया गया इसी आदेश पर अंबरनाथ और बदलापुर में आंदोलन 12 अगस्त को किया गया। अंबरनाथ में तहसीलदार को निवेदन भी दिया गया।
कल्याण-डोंबिवली क्षेत्र में आज 330 पाॅजिटीव
कल्याण। कल्याण डोम्बिवली महानगरपालिका में गुरुवार को कुल 330 कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि की गई जिसके साथ ही कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 23,547 तक जा पहुची है इनमें 4202 मरीजों का उपचार चल रहा है तो वही 18,870 मरीज डिस्चार्ज हो चुके है वही आज 9 लोगो की मौत हो गयी इस आंकड़े के बाद मरने वालों की संख्या बढ़कर 475 हो गयी है 309 मरीज पिछले 24 घंटे के भीतर विभिन्न अस्पतालों व कोरंटाइन सेंटर से डिसचार्ज भी हुए है। मनपा क्षेत्र के कल्याण पूर्व में 76, कल्याण पश्चिम में 97, डोंबिवली पूर्व में 89, डोंबिवली पश्चिम में 25, मांडा टिटवाला में 29, पिसवली में 5 तथा मोहना में 9 नया मरीज कोरोना संक्रमित पाया गया है। डोम्बिवली में नव निर्माणाधीन जिमखाना कोविड सेंटर में लापरवाही का खुलासा समाजसेवक राजेश कदम ने किया है उन्होंने एक वीडियो वायरल कर बताया कि जिमखाना में बनानेवाले सेंटर में किस तरह लापरवाही बरती जा रही है यहां पर महंगी मशीने लाकर रख दी गयी है परंतु उनकी रख रखाव में लापरवाही बरती जा रही है उन्होंने बताया कि यहां पर आकर वे खुद एक मशीन को उठाकर अपनी गाड़ी में रख लेते है हैरत की बात तो यह है कि उनको ऐसा करते हुए कोई भी नही देखता है और ना ही इस बारे में वहां तैनात सुरक्षा रक्षक को इसकी भनक लगती है इससे यह तो स्पष्ट हो जाता है कि कोई भी आसानी से मशीनों की चोरी कर सकता है और यहां से फरार हो सकता है ऐसे में इसका जिम्मेदार कौन होगा मनपा की यह लापरवाही दर्शाती है कि वह कोविड सेंटर व मरीजों को लेकर कितनी मुश्तैद है कदम का यह वायरल वीडियो शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है बता दे कि यह सेंटर 15 जुलाई को शुरू किए जाने की बात मनपा ने किया था परंतु आज तक मनपा ने इस सेंटर को शुरू नही किया मनपा लोगो के स्वास्थ को लेकर कितनी जागरूक है यह तो पता चल ही जाता है।
जन्माष्टमी पर सत्संग करने वाले आश्रम पर अपराध दर्ज
उल्हासनगर। हिललाईन पुलिस थाने क्षेत्र में कोरोना महामारी के दौरान धार्मिक कार्यक्रम पर पाबंदी के नियमों का उल्लंघन करते हुए उल्हासनगर-5 के एक आश्रम में जन्माष्टमी पर्व पर 50 से 100 महिलाएं व पुरुष ने सतसंग के कार्यक्रम में शामिल होकर नियमों का उल्लंघन किया और इतना ही नहीं इस जन्माष्टमी कार्यक्रम के दौरान ना तो मास्क पहना गया था और ना ही सामाजिक दूरी का ख्याल रखा गया था जिस कारण आयोजकों पर हिललाईन पुलिस में भा.द.वि.क. 188 के तहत अपराध दाखिल किया गया है।
हिललाईन पुलिस के कर्मचारी प्रदीप पंडीत लोढे की शिकायत में यह बताया गया है कि बुधवार 12 अगस्त की सुबह 10.30 बजे उल्हासनगर-5 के सेक्शन 35 बैंक आफ इंडिया के पास ईश्वर प्रेम आश्रम में जन्माष्टमी के अवसर पर सत्संग कार्यक्रम का आयोजन किया गया था जिसमें 50 से 100 महिलाएं व पुरुष शामिल थे। यह सभी बिना मास्क व सामाजिक दूरी का ख्याल ना रखते हुए नियमों का उल्लंघन करते हुए पाए गए। ऐसे में आयोजकों जिसमें संगीता कारमोमल कारेरा व अशोक परमानंद धसेजा सहित 9 लोगों पर भा.द.वि.क. 188 सह राष्ट्रीय आपत्ती 2005 के कलम 51(ब), कोविड 19 उपाय योजना 2020 के अधिनियम 11 का उल्लंघन के आरोप में अपराध दर्ज किया गया है। शहर में अभी भी कोरोना खत्म नहीं हुआ है इसलिए शासन द्वारा तय किए गए नियमों का उल्लंघन करने वालों पर अपराध दर्ज होगा। 
केडीएमसी को मुंबई व नवी मुंबई महानगरपालिका 
की तरह कर्मचारियों को मिले सुविधा
कल्याण। मुंबई व नवी मुंबई महानगर पालिका की तरह ही सफाई कर्मचारियों को कोरोना सुरक्षा के उपकरण व विविध सुविधा उपलब्ध कराने की मांग को लेकर महानगर सफाई कर्मचारी संघ ने आयुक्त को निवेदन पत्र देते हुए कहा कि यदि उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वह आगामी 2 सितंबर से काम बंद आंदोलन का रास्ता अपनाने को मजबूर हो जाएंगे ।
मांगे पूरी नहीं हुई तो 2 सितंबर से करेंगे काम बंद आंदोलन
गौरतलब हो कि कोरोना जैसी महामारी में अपनी जान हथेली पर रखकर शहर में सफाई के प्रति जागरूक रहने वाले सफाई कर्मचारियों के लिए नवी मुंबई महानगरपालिका वह मुंबई महानगर पालिका ने विविध व्यवस्था कर रखी है ताकि कोई भी कर्मचारी इस मुश्किल की घड़ी में किसी भी तरह से खुद को असुरक्षित महसूस ना कर सके परंतु वही कल्याण डोंबिवली महानगरपालिका के अंतर्गत काम करने वाले सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा और उनके परिवार की सुरक्षा के लिए कोई भी ठोस कदम मनपा द्वारा नही उठाया गया है  यही नहीं गिला व सूखा कचरा अलग करने वाले कर्मचारियों को महीने में मनपा की तरफ से सिर्फ एक बाटली सैनिटाइजर, मास्क और हैंड ग्लव्स दिया जाता है जो कि पर्याप्त नही होते है और इससे उन पर कोरोना का संकट मंडराता रहता है यदि ऐसे में वे कोरोना की चपेट में आ गए तो उनके लिए मेडिक्लेम की भी सुविधा नही दी गयी है  सफाई कर्मचारियों की इन सब समस्याओं को ध्यान में रखते हुए महानगर सफाई कर्मचारी संघ ने आयुक्त डॉ.विजय सूर्यवंशी को निवेदन पत्र दे मांग किया कि कर्मचारियों को प्रतिदिन 300 रुपये विशेष भत्ता, कर्मचारी व उसके परिवार के 3 व्यक्ति को 5लाख का मेडिक्लेम पॉलिसी, महीने में चार बार सैनिटाइजर, दो दिन पर मास्क एवम हैंड ग्लब्स उत्तम दर्जे का दिया जाय जिससे वे बेझिझक अपने काम को बखूबी से अंजाम देते जाए वही महाराष्ट्र राज्य अध्यक्ष भारत गायकवाड़ ने घनकचरा व्यवस्थापक विभाग उपायुक्त रामदास कोकरे को निवेदन पत्र देकर कहा कि अगर उनकी मांगों को मनपा द्वारा दरकिनार किया गया तो उनको मजबूरन काम बंद आंदोलन का रास्ता अपनाना होगा और आगामी 2 सितम्बर से सफाई कर्मचारी हड़ताल करने से पीछे नही हटेंगे हालांकि उनकी मांगों पर विचार कर उचित मार्ग निकालने का आश्वासन आयुक्त डॉ.विजय सूर्यवंशी ने दिया है ।
Download Ulhasnagar Municipal Corporation CORONA Press Note 

[blogger]

Author Name

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.