"उल्हास विकास" ठाणे जिले का पहला हिन्दी न्यूज एंड्रॉयड मोबाइल ऐप बना
Click on the Image to Download the App from Google Play Store

andriod app

अधिक बिल वसूलने वाले अस्पताल को बचा रहा बड़ा नेता, पान विक्रेता भूखमरी के कगार पर, उल्हासनगर में नए मरीज 38, एक्टिव 333, अंबरनाथ में नए मरीज 33, एक्टिव 242

🔺 उल्हासनगर में नए मरीज 38एक्टिव मरीज 333
कोरोना मुक्त 7097, मृत्यु 219कुल संख्या 7649

🔺 अंबरनाथ में नए मरीज 33एक्टिव मरीज 242
कोरोना मुक्त 4344मृत्यु 180, कुल संख्या 4766

🔺 बदलापुर में नए मरीज 48, एक्टिव मरीज 153
कोरोना मुक्त 3695, मृत्यु 67, कुल संख्या 3915

🔺कल्याण-डोंबिवली में नए मरीज 494एक्टिव 3298
कोरोना मुक्त 23,532, मृत्यु 582, कुल संख्या 27,422
युसूफ शेख । हीरो बोधा
कोरोना की आड़ में लूटपाट मचाए
अस्पतालों पर कब होगी कार्रवाई ?
उल्हासनगर। उल्हासनगर महानगरपालिका क्षेत्र में बुधवार को 38 नए पाॅजिटीव मरीज मिलने से कोरोना ग्रस्त मरीजों की कुल संख्या अब 7649 हो गई है। आज दो कोरोना के मरीजों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 219 हो गई है। आज केवल 6 मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं जिससे कोरोना मुक्त मरीजों की संख्या अब 7097 हो गई है।  रिकवरी प्रतिशत कम होकर 92.78 बताया गया है। वहीं अब 333 एक्टिव मरीजों का ईलाज शहर के बाहर के अस्पतालों में 126, होम आयसोलेशन में 51 व 156 मरीजों का ईलाज निजी व सरकारी अस्पतालों में चल रहा है। उल्हासनगर-1 से 6, उल्हासनगर-2 से 1, उल्हासनगर-3 से 10, उल्हासनगर-4 से 10 तथा उल्हासनगर-5 से 11 मरीज मिले हैं। इसकी पूरी जानकारी नीचे दी गई लिस्ट में दी गई है। 
उल्हासनगर शहर में यूं तो कोरोना के मरीजों की संख्या में कमी आयी है लेकिन शहर के निजी अस्पताल पिछले 5 माह से कोरोना मरीजों को लूटने के लिए पूरी तरह बदनाम हो चुके हैं। कई शहरों में जहां अस्पताल व डाॅक्टर इस संकट की घड़ी में मुफ्त ईलाज कर रहे हैं तो वहीं शहर के निजी अस्पताल मरीजों व उनके परिजनों को लूट रहे हैं। एक तरफ सत्य साई प्लेटेनियम अस्पताल का पर्दाफाश कुछ नेताओं द्वारा हो रहा है तो दूसरी तरफ एक और निजी अस्पताल जिसको लेकर भाजपा युवा नेता विक्की मेंघवानी ने आवाज उठाई है इस अस्पताल के लिए कई अन्य भी शिकायतें हमें मिल रही हैं। शहर के निजी अस्पतालों द्वारा मरीजों को लाखों रुपए कोरोना ट्रीटमेंट के नाम पर वसूले जा रहे हैं जिसमें अब क्रिटीकेयर नामक अस्पताल का नाम सबसे आगे चल रहा है। भाजपा युवा नेता विक्की मेँघवानी द्वारा अस्पताल पर आरोप लगाया गया है कि उसने कोरोना मरीज से अधिक बिल वसूला है इस पर उन्होंने अस्पताल जाकर हंगामा किया तब डाॅक्टर उन्हें पैसे वापस देने को राजी भी हो गए। यह पूरा वीडियो सोशल मीडिया पर भी जोरों पर वायरल हुआ था। होम आयसोलेशन के नाम पर भी एक लेटर के लिए 7 हजार रुपए अस्पताल द्वारा लिया जा रहा है। होम आयसोलेशन के लिए मरीजों से 7 हजार रुपए लिए जा रहे हैं और उनमें 1 हजार रुपए की भी दवाईयां नहीं हैं यह खुलेआम लूटपाट को बचाने के लिए अब चंचलानी नामक युवक के मार्फत भाजपा नेता सैटिंग कर रहा है जिसकी जानकारी हम जल्द ही साझा करेंगे। कोरोना काल में अस्पतालों की शिकायत केवल उल्हासनगर शहर से ही आ रही है यह शहर का सबसे बड़ा दुर्भाग्य है। अंबरनाथ का डेंटल काॅलेज जो सरकारी तंत्र के नीचे काम कर रहा है वो अब मिसाल बनने जा रहा है। अधिक बिल वसूलने वाले ऐसे अस्पतालों पर मनपा कब कार्रवाई करेगी इस पर सबकी नजर टिकी हुई है। 
पान टपरी दुकानें खोलने की मांग, 
शासन ने अनुमति नहीं दी
अंबरनाथ। लाॅकडाऊन में पान टपरी दुकानदारों को अब तक कारोबार शुरू करने की अनुमति नहीं दिए जाने के कारण वह परेशान हैं और भूखमरी का शिकार हो रहे हैं। अंबरनाथ-उल्हासनगर में इन पान टपरी वालों ने दुकानें खोलने की अनुमति प्रशासन से मांगी थी लेकिन उन्हें अनुमति नहीं दी गई। पान और तंबाकू खाने के बाद यहां वहां थूकने से कोरोना प्रादुर्भाव बढ़ने की शक्यता है, इसलिए पान टपरियों को खोलने की अनुमति प्रशासन नहीं दे रहा है। लाॅकडाऊन मार्च से शुरू है तबसे पान टपरी बंद होने से दुकानदारों के घरों में अनाज तक नहीं है। कम से कम सिगरेट बिडी बेचने की अनुमति दिए जाने की मांग की गई थी। सिगरेट बिडी के बहाने ये पानी टपरी वाले पान बेचना भी शुरू कर देंगे यही सोच लेकर प्रशासन पान टपरी शुरू करने की अनुमति नहीं दे रहा है। अंबरनाथ शहर में 250 से ज्यादा और उल्हासनगर 450 से ज्यादा पान टपरी है। अब पानी टपरी दुकानदार प्रशासन से ये प्रश्न पूछ रहे हैं कि क्या अगर कोरोना महामारी एक वर्ष तक चलती रही तो क्या उनका कारोबार एक वर्ष तक नहीं शुरू होगा। अब ये दुकानदार पान बीडी बेचना बंद करके भाजीपाला अथवा पाव, ब्रेड, बिस्किट बेचने के बारे में सोच रहे हैं। ताकि उनके परिवार का उनके बच्चों का वह पेट पाल सके। पान के शौकिन भी परेशान हैं। वह खुले पान बेचने वालों से पान और चूना, सुपारी, कत्था लेकर घर में ही पान बनाकर खा रहे हैं। कई किराणा ने सिगरेट-बिडी बेचना शुरू कर दिया है वहीं प्रतिबंधित गुटखा तो कई किराणा दुकानों से भी मिल जाता है। 
अंबरनाथ में अब तक 4344 कोरोना मुक्त
अंबरनाथ। अंबरनाथ नगरपरिषद क्षेत्र में आज 33 नए कोरोना के केस सामने आए हैं जिसमें पूर्व में 25 तो पश्चिम में केवल 8 नए केस मिले हैं। कुल संख्या अब 4766 हो गई है। एक्टिव मरीज शहर में 242 है एक्टिव मरीजों का प्रतिशत 5.07 प्रतिशत है। अंबरनाथ नपा परिसर में मार्च महिने में पहला कोरोना का मरीज मिला था इसके बाद से कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ते ही गई लेकिन कुछ दिनों से कोरोना के मरीज शहर में कम हो गए हैं। 91.41 प्रतिशत मरीजों ने कोरोना को मात देकर घर गए हैँ कुल 4344 मरीज कोरोना मुक्त हो चुके हैं। मृतकों की संख्या 180 ही है। मृतकों का प्रतिशत 3.77 है। अभी तक 12729 लोगों ने कोविड 19 का टेस्ट कराया है। आज 28 की रिपोर्ट आयी है। आज 318 टेस्ट हुए जिसमें 285 नेगेटिव और 33 पाॅजिटीव है। नपा संचालित डेंटल कोविड अस्पताल में 49 मरीज उपचार करवा रहे हैं। अब तक 2051 मरीज इस अस्पताल में दाखिल हुए हैं जिसमें से 1998 मरीज ठीक हुए हैं यहां पर 2.38 प्रतिशत रोगी एक्टिव हैं। चार की अब तक इस अस्पताल में मौत हुई है जो 0.19 प्रतिशत है। आज 345 एंटीजन टेस्ट में 325 नेगेटिव और 20 पाॅजिटीव पाए गए हैं।
बदलापुर में आज 48 नए पाॅजिटीव
बदलापुर। कुलगांव-बदलापुर नगरपारिषद क्षेत्र में बुधवार को 48 नए पाॅजिटीव मरीज मिले हैं जिससे कोरोना ग्रस्त मरीजों की कुल संख्या अब 3915 हो गई है। यहां पर मृतकों का 1.71 प्रतिशत के साथ कुल मरने वालों की संख्या 67 हो गई है। यहां पर 94.38 प्रतिशत मरीज ठीक हुए हैं 3695 मरीज कोरोना मुक्त अब तक हो चुके हैं। 3.90 प्रतिशत के साथ एक्टिव मरीजों की कुल संख्या अब केवल 153 रह गई है। जिनका ईलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। अब तक 5691 लोगों का स्वेब टेस्ट हुआ है। आज 52 स्वेब की रिपोर्ट में 4 नेगेटिव और 48 पाॅजिटीव पाए गए हैं।
कल्याण-डोंबिवली क्षेत्र में आज मिले 101 मरीज
कल्याण। कल्याण डोम्बिवली महानगरपालिका में बुधवार को कुल 494 कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि की गई जिसके साथ ही कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 27,422 तक जा पहुची है इनमें 3298 मरीजों का उपचार चल रहा है तो वही 23,542 मरीज डिस्चार्ज हो चुके है वहीं आज 9 लोगों की मौत हो गयी इस आंकड़े के बाद मरने वालों की संख्या बढ़कर 582 हो गयी है 311 मरीज पिछले 24 घंटे के भीतर विभिन्न अस्पतालों व कोरंटाइन सेंटर से डिसचार्ज भी हुए है। मनपा क्षेत्र के कल्याण पूर्व में 79, कल्याण पश्चिम में 145, डोंबिवली पूर्व में 131, डोंबिवली पश्चिम में 101, मांडा टिटवाला में 24, पिसवली में 2 तथा मोहना में 12 नया मरीज कोरोना संक्रमित पाया गया है।
अंतिम वर्ष के छात्रों की परीक्षा के पक्ष में नहीं सरकार
मुंबई। अंतिम वर्ष के छात्रों की परीक्षा हेतु सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है जिसकी सुनवाई आज होनी थी लेकिन बचाव पक्ष के वकील ने जानकारी दी कि आज सुनवाई नहीं हुई है लेकिन जल्द ही इसका परिणाम आएगा। इस विषय पर आज मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए यह बयान जारी किया है कि जून में अगर हम परीक्षा लेने की स्थिति में नहीं थे तो आज ये संकट बढ़ गया तो हम कैसे परीक्षा ले सकते हैं। ऊपर दिए गए लिंक में सीएम का इंटरव्यू देख सकते हैँ। छात्रों का भविष्य अधर में लटका हुआ है क्योंकि ना तो परीक्षा हो रही है और ना ही उन्हें डिग्री मिल रही है ताकि वो कहीं जाॅब करें अन्य़था आगे की पढ़ाई कर सके। ऐसी हालात में परीक्षा होना उन पर दोहरा संकट जैसा होगा।
कल्याण-डोंबिवली में सामाजिक संस्था 
ने आयुक्त के खिलाफ मोर्चा खोला
कल्याण। कोविड-19 कोरोना के संक्रमण के बढ़ते मरीज़ और मृत्यु का आंकड़ा रोकने में नाकाम कल्याण डोंबिवली महानगरपालिका के आयुक्त डॉ. विजय सूर्यवंशी के खिलाफ नागरिक संघर्ष समिति ने मोर्चा खोल दिया है 26 अगस्त के दिन कल्याण जे मैक्सी ग्राउंड स्थित मातोश्री सभाग्रृह में पत्रकार परिषद का आयोजन किया गया था समिति के अध्यक्ष बाबा रामटेके ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि जबसे लाॅकडाऊन लगाया गया है उस समय से कोरोना मरीज़ों के स्वास्थ्य को लेकर मनपा प्रशासन से चर्चा विचार विमश करने का प्रयास किया गया और कोरोना की रोकथाम के लिए समय-समय पर समिति की ओर से सूचना उपाय योजना करने के लिए मनपा आयुक्त से भेंट करने के लिये समय मांगा गया लेकिन आयुक्त सूर्यवंशी ने समिति पद अधिकारियों से संपर्क नहीं किया इस कारण समिति ने आयुक्त के खिलाफ धरना प्रदर्शन की शुरूआत की गई इसके बावजूद भी आयुक्त ने समिति की मांगों पर ध्यान नहीं दिया नागरिक संघर्ष समिति ने पत्रकारों को दिए एक निवेदन में मनपा प्रशासन से मांग हेतु कहा है कि मनपा के अस्पतालों में और निजी अस्पतालों में भी कोरोना पीडितों का मुफ्त में इलाज किया जाए एम्बुलेंस और शववाहिनी समय पर उपलब्ध किया जाये निजी एम्बुलेंस शववाहिनी भी मुफ्त में उपलब्ध कि जाए  कोरोना काल में बड़ी संख्या में  कोविड मरीज़ों ने आत्महत्या की है जिसकी जवाबदारी मनपा की है कोविद के मरीजों की हृदय विकार से मृत्यु हो रही है जिसके लिये अस्पतालों में मनोचिकित्सक डाॅक्टर नियुक्त किये जायें कोरोना के मरीज़ों की सभी जांच मुफ्त में किये जायें मनपा क्षेत्र की सभी श्मशान भूमि में डीज़ल, बिजली गैस दाहिनी तत्काल तैयार करें इस तरह की 10 से 11 मांगों का एक निवेदन पत्रकारों को दिया गया। इस पत्रकार परिषद में समिती केे अध्यक्ष बाबा रामटेके, एजाज़ सय्यद, इरफान शेख, अन्ना साहेब रोकड़े, डॉ. गिरीश लटके, कालू कोमस्कार, यासर शेख, संजय कुकडे, राजा भाऊ अक्केवार, दादा कामड़े, अमित केरकर, जालंधर भोईर, उदय चौधरी, धनंजय जोगदन आदि उपस्थित थे।
Download Ulhasnagar Municipal 
Corporation CORONA Press Note 


https://www.bing.com/covid/local/india?form=C19WID

[blogger]

Author Name

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.