"उल्हास विकास" ठाणे जिले का पहला हिन्दी न्यूज एंड्रॉयड मोबाइल ऐप बना
Click on the Image to Download the App from Google Play Store

andriod app

गणेशोत्सव मंडल केवल ढाई दिन का गणपति बिठाएं, 22 अगस्त को गणेश आगमन

* पांच से ज्यादा लोगों पर पाबंदी, मंडप के लिए आनलाईन अर्ज करें
* रास्तों पर स्टेज व स्टाॅल की अनुमति नहीं
* सभी नियमों का पालन करने वालों का होगा सत्कार
* अंबरनाथ नपा द्वारा गणेश मंडलों की बैठक संपन्न
अंबरनाथ। युसूफ शेख
आगामी गणेशोत्सव का आगमन शनिवार 22 अगस्त को होने जा रहा है। जिसके चलते गणेशोत्सव में गणेश मंडलों द्वारा केवल ढाई दिन का गणपति बिठाए और विसर्जन कृत्रीम तालाब में अथवा घरगुति किए जाए, रास्ते पर स्टेज या स्टाॅल लगाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। महामारी के कारण सभी धर्म के उत्सव रद्द किए गए हैं। उत्सव में पांच से ज्यादा लोग एकत्रित नहीं होंगे। अंबरनाथ  नगरपरिषद में गणेश मंडलों की एक बैठक का आयोजन गुरुवार को हुआ। ये बैठक प्रशासक जगतसिंग गिरासे की अध्यक्षता में हुई। उपरोक्त आवाहन उन्होंने गणेश मंडलों से किया। इस बैठक में मुख्याधिकारी प्रशांत रसाल के अलावा एसीपी नरले एवं तहसीलदार भी उपस्थित थे। मंडलों से आवाहन किया गया है कि कोरोना ससंर्ग बढ़े नहीं इसके लिए ज्यादा गर्दी ना करें। सोशल डिस्टेंसींग का ख्याल रखे। सार्वजनिक मंडलों ने मंडप स्टेज इजाजत के लिए आनलाईन अर्जी करें। मुख्याधिकारी रसाल और व.पु.नि मनजीत सिंग बग्गा ने मंडलों के पदाधिकारियों से आवाहन किया कि शासन द्वारा जारी किए गए गाई लाईन्स के अनुसार ही उत्सव मनाएं। सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडलों से आवाहन किया गया है कि ध्वनि प्रदूषण ना हो इसका ध्यान रखे और गणेश मूर्ति का विसर्जन शासकीय वाहनों से ही किया जाए। सभी शर्तों के साथ उत्सव मनाने वालों को प्रशासन मार्फत सत्कार किया जाएगा। इस बैठक में अति. मुख्याधिकारी चव्हाण, नपा अधिकारी एवं गणेश मंडलों के पदाधिकारी उपस्थित थे। नपा द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार खबर दी गई है। शासन ने भी पहले से ही यह आदेश दिया था कि इस बार बड़े आकार वाली मूर्तियां नहीं रखी जाएं। छोटी मूर्तियां और जितना हो सके इको फ्रेंडली मूर्तियों का इस्तेमाल किया जाए।
उल्हासनगर शहर में गणेशोत्सव के चलते अब तक पुलिस व प्रशासन द्वारा कोई भी बैठक की जानकारी नहीं मिली है।
Labels: ,
[blogger]

Author Name

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.