"उल्हास विकास" ठाणे जिले का पहला हिन्दी न्यूज एंड्रॉयड मोबाइल ऐप बना
Click on the Image to Download the App from Google Play Store

andriod app

कोरोना के डर व कहर से डॉक्टरों के पास भीड़

अंबरनाथ। युसूफ शेख
कोरोना का संकट और कितने दिन बरकरार रहेगा ये तो कहा नहीं जा सकता इस संक्रमण को लेकर पूरा देश परेशान है, जिसको इस रोग ने जकड़ लिया है वह और उसका परिवार परेशान है ही जिसको नहीं हुआ है वह सबसे ज्यादा परेशान है और डरा सहमा हुआ है कि ना जाने कोरोना कहीं उसे भी अपनी जकड़ में ले लेगा। दिन रात टीवी समाचार में कोरोना, कोरोना तो अखबारों एवं सभी की आपसी चर्चा में भी ये छाया हुआ है। मामूली सी खासी भी अगर आम आदमी को होती है तो इसको कोरोना का संदेह होने लगता है। थोड़ा सा गले में दर्द शुरू हुआ तो गर्म पानी से गरार किया जा रहा है। लोगों ने अपने परिवार जनों, परिचतों से हाथ मिलाना तक छोड़ दिया है। बात करते भी है तो पांच फीट की दूरी से। कुछ नेताओं ने तो मोबाईल के साथ साथ अपने हाथ अथवा जेब में हेंड सेनीटाईजर रखना शुरू कर दिया है। कई डॉक्टरों ने अपने अस्पताल के बाहर ही एक नर्स को बिठा रखा है जो पहले ये पूछती है कि आपको बुखार के साथ खांसी या सरदर्द तो नहीं। थोड़ा भी शक हुआ तो उसे अस्पताल अथवा बड़े डॉक्टर के पास जाने की सलाह दी जा रही है। सरकारी कार्यालय, बैंकों, बड़ी दुकानों के बाहर हेंड सेनीटाईजर रखा गया है। ज्यादातर लोगों ने कोरोना के डर से चेहरे पर मास्क लगाना शुरू कर दिया है। कोरोना की दहशत और 6 महिने तक जारी रहेगी ऐसा कहा जा रहा है। कोरोना के डर व कहर से लोगों में बेचैनी है और डॉक्टरों के पास लोगों की भीड़ है उनके पास मानसिकता को लेकर भी लोग आ रहे हैं।
[blogger]

Author Name

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.