पालघर में सांप्रदायिक जैसा कुछ भी नहीं है- ठाकरे

मुंबई। महाराष्ट्र के पालघर में तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या के मामले को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने वीडियो संदेश जारी किया है। मुख्यमंत्री ने पहले कहा था कि तीन लोगों की भीड़ द्वारा हत्या के मामले में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। ठाकरे ने एक वीडियो संदेश में कहा कि सोमवार को उन्हें गृह अमित शाह का फोन आया था और उन्होंने खुद मामले में किसी तरह के सांप्रदायिक पहलू के नहीं होने की बात कही थी। 
ठाकरे ने कहा, “मैंने उनसे उन लोगों पर कार्रवाई करने के लिए अनुरोध किया जो पालघर भीड़ हत्या मामले को सांप्रदायिक रंग दे रहे हैं, जो तथ्यात्मक रूप से गलत है। मैंने उन्हें यह भी बताया कि मेरी सरकार निश्चित रूप से षड्यंत्रकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने जा रही है।” ठाकरे ने कहा है कि इस जघन्य और शर्मनाक कृत्य के किसी भी दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा और कानून उन्हें सख्त से सख्त सजा देगा।
ठाकरे ने रविवार देर रात ट्वीट कर कहा, 'पालघर मामले में कार्रवाई की गई है। पुलिस ने उन सभी आरोपियों को उसी दिन गिरफ्तार किया है जिन्होंने दो साधुओं, एक वाहन चालक और पुलिसकर्मियों पर हमला किया था।' उन्होंने कहा कि इस जघन्य और शर्मनाक कृत्य के किसी भी दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा और कानून उन्हें सख्त से सख्त सजा देगा।
बता दें कि प्रदेश सरकार ने 16 अप्रैल को हुई इस वारदात में पहले ही उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए हैं। राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने मामले को किसी भी तरह के सांप्रदायिक नजरिये से देखे जाने के खिलाफ चेतावनी दी थी क्योंकि ऐसा माना जा रहा है कि मारे गए तीन लोगों में से दो साधु थे।
वहीं, महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि हमलावर और पालघर भीड़ हत्या में मारे गए लोग अलग-अलग धर्मों के नहीं थे। उन्होंने रविवार को एक ट्वीट में कहा, 'मैंने महाराष्ट्र पुलिस और साइबर क्राइम को आदेश दिया है कि समाज या सोशल मीडिया में सांप्रदायिक नफरत को भड़काने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई करें।”
उन्होंने कहा, “पुलिस ने पालघर में सूरत जा रहे तीन लोगों की हत्या में शामिल 101 लोगों को हिरासत में लिया है। मैंने इन हत्याओं की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं।” देशमुख ने कहा कि पुलिस की नजर उन लोगों पर है जो इस घटना का इस्तेमाल समाज में दरार पैदा करने के लिये करना चाहते हैं। पालघर पुलिस ने सोमवार को ड्यूटी में लापरवाही बरतने पर दो पुलिसवालों को निलंबित किया है। 
दरअसल, महाराष्ट्र के पालघर जिले में 16 अप्रैल की रात गुजरात के सूरत जा रहे मुंबई में कांदिवली के रहने वाले तीन लोगों की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इसमें दो साधु और एक ड्राइवर बताया जा रहा है। उनके वाहन को एक गांव के पास रोका गया था। उनके चोर होने के शक में भीड़ ने उन्हें उनकी कार से निकालकर लाठियों से पीट-पीटकर मार डाला था। मृतकों की पहचान चिकने महाराज कल्पवृक्षगिरी (70), सुशीलगिरी महाराज (35) और वाहन चालक निलेश तेलगाडे (30) के तौर पर हुई है।

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

[blogger]

ULHAS VIKAS

{facebook#https://www.facebook.com/ashokubodha?lst=100004327352253%3A100004327352253%3A1544105693} {twitter#https://twitter.com/ulhasvikas} {google-plus#https://plus.google.com/u/0/112820940958764632209?tab=mX} {youtube#https://www.youtube.com/channel/UCJqNLYFJiQKoLRvJrwhY3vg?disable_polymer=true} {instagram#https://www.instagram.com/accounts/login/?hl=en}

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget