"उल्हास विकास" ठाणे जिले का पहला हिन्दी न्यूज एंड्रॉयड मोबाइल ऐप बना
Click on the Image to Download the App from Google Play Store

andriod app

मुंबई में नहीं थम रहे कोरोना वायरस के नए मामले

शुक्रवार को मिले 218 मरीज, 10 की मौत

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का प्रकोप दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है। केवल मुंबई में कोविड-19 के मरीजों की संख्या एक हजार के करीब पहुंच गई है। शुक्रवार को बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (बीएमसी) की ओर जारी आंकड़ों के मुताबिक मुंबई में 212 नए मामले मिले हैं, जबकि 10 लोगों की के साथ शहर में मरने वालों की संख्या 64 पहुंच गई है। इसी के साथ शहर में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 993 हो गई है। बता दें कि ये आंकड़े केवल मुंबई शहर के हैं। पूरे राज्य में कोरोना वायरस के 1364 मामले सामने आ चुके हैं और 97 लोगों की मौत हो चुकी है।
एक तरफ मुबई में कोरोना वायरस के मरीजों की संक्या में वृद्धि देखने को मिली है तो दूसरी ओर से सरकार के लिए राहत की भी खबर है। महाराष्ट्र के चिकित्सा शिक्षा मंत्री अमित देशमुख ने शुक्रवार को दावा किया कि सांगली जिले में कोविड-19 के 26 में से 24 मरीज ठीक हो गए हैं। मंत्री ने संक्रमितों का इलाज करने वाले चिकित्साकर्मियों की सराहना की। इससे पहले महाराष्ट्र के जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल ने शुक्रवार को दावा किया कि सांगली जिले में कोविड-19 के 26 मरीजों में से 24 ठीक हो चुके हैं। मंत्री ने स्थानीय प्रशासन और नागरिकों की उनके प्रयासों के लिये सराहना की थी।
सांगली के प्रभारी मंत्री पाटिल ने कहा कि इस्लामपुर में 25 व्यक्तियों को पहले कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था, जबकि जिले के वडगांव में कोविड-19 का एक रोगी पाया गया था। देशमुख ने एक बयान में कहा, “इस मरीज को मिराज मेडिकल कॉलेज में निगरानी में रखा गया था। उनकी दूसरी जांच के नतीजे में संक्रमण नहीं मिला है, जो एक बड़ी सफलता है।” उन्होंने चिकित्सकों के दल की भी उनके प्रयास के लिये सराहना की। 
फेसबुक पर एक वीडियो संदेश में पाटिल ने कहा कि बीमारी को रोकने के लिए इस्लामपुर में पृथकवास, संदिग्धों की पहचान और सामाजिक मेलजोल से दूरी बनाने के तीन-आयामी दृष्टिकोण को अपनाया गया। उन्होंने इसे “इस्लामपुर पैटर्न” करार दिया। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने भी जिले में पृथकवास के प्रयोग को “100 प्रतिशत सफल बनाना” सुनिश्चित करने के लिये इस्लामपुर और सांगली के लोगों की सराहना की। 
उन्होंने कहा, “मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि हमने सरकारी अधिकारियों, कर्मचारियों और लोगों के सहयोग से कोरोना वायरस के प्रसार पर काबू पा लिया है। जो परिवार कोरोना वायरस से संक्रमित थे वे अब पूरी तरह से ठीक हो गए हैं।” पाटिल नेकहा कि वह कुछ हद तक संतुष्ट हैं और भरोसा है कि संक्रमण अब जिले में नहीं फैलेगा। मंत्री ने कहा, “बंद अब भी लागू है और लोगों को इसका पूर्ण रूप से पालन करना चाहिए।”
[blogger]

Author Name

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.